चिटफंड कंपनियों पर लगेगी लगाम, सरकार ने इस विधेयक को मंजूरी दी

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कई फैसले लिए गए, जिसमें चिटफंड कंपनियों के डिपॉजिट पर लगाम और 3 हवाई अड्डों को पट्टे पर देना शामिल है। कैबिनेट ने अनियंत्रित जमा योजना पाबंदी विधेयक, 2019 को मंजूरी दी है। नया विधेयक देश में चिटफंड कंपनियों और ऐसी ही दूसरी स्कीम द्वारा अवैध रूप से जमा किए जा रहे पैसे निपटने में मदद करेगा।

वर्तमान में अवैध जमा योजनाएं रेग्युलेटरी कमियों का फायदा उठाते हुए गरीबो की गाढ़ी कमाई को ठग लेती हैं। इसके अलावा, कैबिनेट ने पीपीपी मॉडल के तहत भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के 3 हवाई अड्डों अहमदाबाद, लखनऊ और मंगलुरू को लीज पर देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने बोली दस्तावेजों के नियमों और शर्तों के अनुसार इन हवाई अड्डों के संचालन, प्रबंधन और विकास के लिए 50 साल की लीज अवधि के लिए सबसे अधिक बोली लगाई।हवाई अड्डों को लीज पर देने से वितरण, विशेषज्ञता, उद्यम और व्यावसायिकता में बढ़ोतरी होगी। एएआई के राजस्व में वृद्धि होगी, जिससे एएआई द्वारा टियर-2 और टियर-3 शहरों में निवेश किया जा सकता है और रोजगार सृजन व संबंधित बुनियादी ढांचे की दृष्टि से इन क्षेत्रों में आर्थिक विकास होगा।

साथ ही कैबिनेट ने रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) सेवा को संगठित समूह ‘क’ का दर्जा देने और समूह ए कार्यकारी कैडर अधिकारियों को संगठित समूह ए सेवा प्रदान करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है। सरकार का कहना है कि आरपीएफ को संगठित समूह ‘क’ सेवा का दर्जा देने से सेवा में स्थिरता समाप्त होगी, अधिकारियों की कैरियर प्रगति में सुधार होगा और उनका प्रेरणात्मक स्तर कायम रहेगा। आरपीएफ के योग्य अधिकारी लाभान्वित होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

rajeev-kumar

राजीव पर शिकंजा कसने आ रहे हैं ‘स्पेशल 12’

सप्ताह भर के अंदर कार्रवाई होगी पूरी : सीबीआई सूत्र अलीपुर कोर्ट में कैविएट दायर किया राजीव कुमार ने सीबीआई जारी करा सकती है वारंट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

मोदी से मिलीं ममता, बंगाल से जुड़े मसले पर हुई चर्चा

पीएम को बंगाल आने का दिया न्योता राज्य के नामकरण को लेकर हुई चर्चा एनआरसी के मुद्दे पर नहीं हुई बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर