चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ 6.6 फीसद रहने का अनुमान

नई दिल्ली : चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ 6.6 फीसद रहने का अनुमान है, जोकि पिछले साल के 6.8 फीसद से कम है। रेटिंग एजेंसी फिच का कहना है कि भारत के पास उच्च कर्ज होने के कारण राजकोषीय नीतियों को सरल करने की गुंजाइश सीमित है। फिच ने कहा है कि अगले साल अर्थव्यवस्था में सुधार आने की उम्मीद है। एजेंसी का कहना है कि भारत की जीडीपी ग्रोथ अगले साल बेहतर होकर 7.1 फीसद पर आ सकती है।

एजेंसी ने कहा है कि भारत की जीडीपी ग्रोथ में लगातार पांचवी तिमाही में कमी आई है। एजेंसी ने कहा कि अप्रैल-जून तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 5 फीसद रही, जो कि छह सालों की न्यूनतम है। रेटिंग एजेंसी फिच ने कहा कि घरेलू मांग में कमी आ रही है, निजी खपत और निवेश दोनों में कमी आ रही है वहीं, वैश्विक ट्रेड एनवायर्नमेंट भी कमजोर है।

इसके अलावा, फिच ने कहा है कि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर सिर्फ 0.6 फीसद से विकास कर रहा है। यहां उच्च सार्वजनिक ऋण देने के कारण राजकोषीय नीतियों को सरल करने की गुंजाइश कम है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारतीय बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ घटकर दो साल के निचले स्तर पर आया : आरबीआई

नई दिल्ली : आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक भारतीय बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ घटकर लगभग दो साल के निचले स्तर पर आ गया है, क्योंकि आगे पढ़ें »

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

ऊपर