गूगल मैप नहीं, अब यहां से पता चलेगा सही लोकेशन

नई दिल्ली : टाटा मोटर्स ने अभिनव लोकेशन तकनीक प्रदाता व्हाट 3 वर्ड्स के साथ साझेदारी की है। टाटा मोटर्स भारत का पहला निर्माता होगा जो अपने यात्री वाहनों में व्हाट 3 वर्ड्स के अड्रेसिंग सिस्टम का प्रयोग करेगा।

टाटा मोटर्स के साथ यह साझेदारी गाड़ियां चलाने वालों को एक 3 शब्दों का पता आवाज या टेक्स्ट से दर्ज करने और फिर उस सटीक स्थान (3 मीटर के अंदर-अंदर) तक पहुंचने में सक्षम करेगी। यह खासकर भारत के लिए अच्छा है, क्योंकि यहां का अड्रेसिंग सिस्टम एक सामान नहीं है और रोड नेटवर्क काफी जटिल है, जिसकी वजह से कहीं भी पहुचनें में समस्या होती है। यह सटीक और अनोखा 3 शब्दों का अड्रेसिंग सिस्टम हर भारतीय ग्राहक को आसान, सरल और सुरक्षित तरीके से कम वक्त में सही जगह पहुंचाएगा। यह सिस्टम अब 37 भाषाओं में उपलब्ध है और खासकर 5 भारतीय भाषाओं में भी हिंदी, बंगाली, तमिल, तेलुगू और मराठी। भारतीय भाषाओं की उपलब्धता की वजह से भारतवासी इस तकनीक का उपयोग कर सकेंगे।

इस साझेदारी के बारे में बात करते हुए टाटा मोटर्स के अध्यक्ष मयंक पारिक ने कहा कि टाटा मोटर्स को बहुत गर्व है कि वह भारत का पहला वाहन निर्माता है, जिसने व्हाट 3 वर्ड्स के साथ काम आरंभ किया है। इस साझेदारी का मतलब है कि हमारे ग्राहक अब किसी भी सटीक 3 शब्दों के पते तक व्हाट 3 वर्ड्स के जरिए पहुंच जाएंगे। यह हमारे देश के असामान्य अड्रेसिंग सिस्टम की बहुत बड़ी समस्या हल करेगा। यह 3 शब्दों का अड्रेसिंग सिस्टम ना सिर्फ एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने का बेहतर अनुभव प्रदान करेगा, बल्कि ड्राइवरों को कम से कम मेहनत और परेशानी से सटीक स्थान तक पहुंचाएगा। दुनिया भर में यह अनोखी व्हाट 3 वर्ड्स की तकनीक सिर्फ प्रीमियम गाड़ियों में उपलब्ध है, लेकिन बहुत जल्द ग्राहक इस अभूतपूर्व तकनीक का इस्तेमाल हमारे मुख्य वाहनों में कर पाएंगे।

भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है, लेकिन अन्य देशों की तरह भारत भी कई समस्याओं का सामना कर रहा है
1)बैंक खाते रहित लोगों की समस्याएं,
2)यातायात सुविधा विहीन लोगों की समस्याएं और
3)पते विहीन लोगों की समस्याएं

व्हाट 3 वर्ड्स के सीईओ और सह संस्थापक कृष शेल्डरिच ने कहा कि इन समस्याओं का सामना करने में हमारी टाटा मोटर्स के साथ साझेदारी फायदेमंद रहेगी, क्योंकि मिलकर इस साझेदारी का प्रभाव मानवीय, यात्रा, ई-कामर्स, और वाहनों के व्यवसायों में और खासकर पर्यटन व्यवसाय में तरक्की लाएगा, इसके इश्तेमाल से अब सफर करना ज्यादा होगा। आजकल भारतवासी स्मार्टफोन जैसे डिजिटल उपकरणों को तेजी से अपना रहे हैं और भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है, जिसका मतलब है कि भारत को एक परिष्कृत लोकेशन तकनीक की सख्त जरूरत है।

देशभर के राज्यों में पते लिखने के अलग अलग प्रारूप हैं, कई सड़कें और इलाकें बेनाम हैं और काफी इमारतों पर नंबर नहीं लिखा हुआ है, जिसकी वजह से जगहों को ढूंढने में मुश्किलें होती हैं। दुनिया भर में इन मुश्किलों को हल करने के लिए व्हाट 3 वर्ड्स ने सारी दुनिया का वर्गीकरण किया है।  व्हाट 3 वर्ड्स की तकनीक के जरिए एक 3 शब्दों का पता गाड़ी के नेविगेशन सिस्टम में अपने हाथ से या आवाज के द्वारा आसानी से दर्ज किया जा सकता है। प्रत्येक 3 शब्दों का पता अद्वितीय है और एक जैसे सुनाई देने वाले पतों को नक्शे में एक दूसरे से दूर रखा गया है, जिससे कोई गलतफहमी या त्रुटि उत्पन्न ना हो।

इसके अलावा, अगर पता दर्ज करते समय कोई भी गलती हो तो ऑटो सजेस्ट की सुविधा से गाड़ियां चलाने वाले जल्दी से अपनी गलतियों को ठीक कर सकते हैं और सही जगह तक पहुंचने का रास्ता हासिल कर सकते हैं। टाटा मोटर्स के आने वाले प्रोडक्ट्स में व्हाट 3 वर्ड्स का नवीनतम संस्करण उपलब्ध होगा। ग्राहक व्हाट 3 वर्ड्स का ऐप मुफ्त में आईओएस या एंड्रायड द्वारा डाउनलोड कर सकेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

केरल घूमने गयी थीं 5 बहनें, 3 की सड़क दुर्घटना में मौत

बनगांव : उत्तर 24 परगना के बनगांव से केरल घूमने गयीं 5 बहनों में से 3 की मौत सड़क दुर्घटना में हो गयी। वहीं 2 आगे पढ़ें »

19 में हाफ हुई 21 में साफ हो जायेगी तृणमूल : दिलीप घोष

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के नारायणगढ़ विधानसभा के 12 नम्बर तुतरंगा के ठाकुरचक से भाजपा की गांधी संकल्प यात्रा चौथे दिन आगे के लिये आगे पढ़ें »

ऊपर