गूगल ने भारत में प्रतिबंधित ऐप्स को अस्थाई रूप से ब्लॉक किया

नयी दिल्ली : सरकार द्वारा इस सप्ताह 59 ऐप्स को प्रतिबंधित किए जाने के बावजूद गूगल ने गुरुवार को कहा कि उसने इन ऐप को अस्थाई रूप से ब्लॉक किया है और ये अभी भी भारत में प्ले स्टोर पर उपलब्ध हैं। गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘हम भारत सरकार के अंतरिम आदेशों की समीक्षा कर रहे हैं, इसबीच हमने प्रभावित डेवलपर्स को सूचित किया है और इन ऐप्स तक पहुंच को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है, जो भारत में प्ले स्टोर पर अभी भी उपलब्ध हैं।’

प्रवक्ता ने उन ऐप्स का ब्यौरा नहीं दिया

हालांकि, प्रवक्ता ने उन ऐप्स का ब्यौरा नहीं दिया, जिन्हें गूगल ने ब्लॉक किया है। सूत्रों के अनुसार जिन 59 ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया, उनमें से कई के डेवलपर्स ने स्वेच्छा से अपने एप्लिकेशन को गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया था। भारत ने सोमवार को टिकटॉक, यूसी ब्राउज़र, शेयरइट और वीचैट सहित चीनी से संबंध रखने वाले 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाते हुए कहा कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए पूर्वाग्रह से ग्रस्त थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 वायरस के प्रभावी लक्षण दिखन में लगते हैं आठ दिन : वैज्ञानिक

नयी दिल्ली : बड़ी संख्या में कोविड-19 के मरीजों से प्राप्त सैंपल्स की जांच तथा नये अध्ययनों और उनके विश्लेषण करने के उपरांत वैज्ञानिक इस आगे पढ़ें »

कोल इंडिया ने उत्पादन लक्ष्य घटाकर किया 65-66 करोड़ टन

कोलकाता : सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने कोविड-19 महामारी की वजह से पैदा हुई अड़चनों के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष 2020-21 आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल की 20 अरब डॉलर आकार की लॉजिस्टिक्स क्षेत्र की नीति तैयार, जल्द उद्योग के लिये जाएंगे विचार : अमित मित्रा

कोरोना काल में आर्थिक परेशानी से घिरी मुंबई में जूनियर टेबल टेनिस खिलाड़ी स्वस्तिका घोष

अब लक्ष्य 2022 विश्व कप है, लेकिन श्रृंखला दर श्रृंखला प्रदर्शन देखूंगी : झूलन गोस्वामी

धोनी आईपीएल में अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में होंगे: मांजरेकर

घोर लापरवाही, 18 घंटे घर में पड़ा रहा कोरोना संक्रमित का शव

अभिषेक बच्चन की कोविड टेस्ट रिपोर्ट 28 दिन बाद आयी निगेटिव

narvane

किसी भी हालात के लिए तैयार रहें कमांडर : नरवणे

पुरी ने 10-10 लाख रुपए मुआवजे देने का किया ऐलान, राज्य सरकार भी देगी इतना ही मुआवजा

ऊपर