खाते से पैसा कट जाए और एटीएम से बाहर ना आए तो घबराएं नहीं, ये हैं नए नियम

नई दिल्ली : एटीएम से पैसा निकालते समय अगर खाते से पैसा कट जाता है, लेकिन एटीएम से पैसा बाहर न आए तो परेशान ना हो। किसी के खाते में पैसा भेजते हैं समय भी कई बार पैसा कट जाता है, लेकिन पैसा दूसरे अकाउंट में नहीं पहुंचता। ऐसे में आपको फ़िक्र करने की जरूरत नहीं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ग्राहकों की फेल्ड ट्रांजैक्शन की शिकयतों पर संज्ञान लेते हुए टर्न अराउंड टाइम एक निश्चित समयावधि तय की है, जिसके तहत अगर किसी ग्राहक का ट्रांजैक्शन फेल्ड हो जाता है तो बैंक को एक निश्चित समयावधि में सेटलमेंट करना होगा, बैंक को ग्राहकों को मुआवजा देना होगा।

आरबीआई ने लेनदेन को आठ अलग-अलग वर्गों में बांटा है, जिसमें एटीएम से लेनदेन, कार्ड लेनदेन, तत्काल भुगतान प्रणाली, यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस और प्रीपेड कार्ड शामिल हैं। नए नियम के तहत ट्रांजैक्शन के बाद 5 दिन में खाते में पैसा वापस लौटाना होगा। निश्चित समयवधि में अगर ग्राहक को पैसा नहीं मिला तो 100 रुपए रोजाना हर्जाना बैंक को देना होगा। ग्राहक बैंकिंग लोकपाल को भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

नए नियम
एटीएम ट्रांजैक्शन से पैसा कट जाता है और कैश ग्राहक को नहीं मिलता तो ट्रांजैक्शन के बाद से 5 दिन में अकाउंट में पैसा लौटाना होगा। 5 दिन से ज्यादा समय लगता है तो ग्राहक को रोज 100 रुपये के हिसाब से हर्जाना देना होगा।
वहीं पैसा ट्रांसफर करने पर अगर आपके पैसे कट गए, लेकिन रिसीवर के खाते में नहीं पहुंचा तो ट्रांजैक्शन के एक दिन बाद तक पैसा वापस करना होगा। इस अवधी में पैसा वापस नहीं आया तो दूसरे दिन से 100 रु हर्जाना देना होगा।

कार्ड ट्रांसफर
एक कार्ड से पैसा कट जाए और दूसरे में पैसा ट्रांसफर न हो तो ट्रांजैक्शन के बाद अधिकतम 1 दिन में रिवर्सल ट्रांजैक्शन के बाद दूसरे दिन से 100 रुपए रोजाना हर्जाना लगेगा।

यूपीआई से ट्रांसफर के नियम
पैसा ट्रांसफर के दौरान खाते से पैसे कट जाए, लेकिन रिसीवर के खाते में ना पहुंचे तो ऐसे में ट्रांजैक्शन के 1 दिन के भीतर पैसा वापस करना होगा। ऐसा ना करने पर बैंक कोदूसरे दिन से 100 रुपए रोज हर्जाना देना होगा।

पीओएस ट्रांजेक्शन के नियम
अकाउंट से पैसे कट जाए, लेकिन मर्चेंट को पैसा न मिले तो ट्रांजैक्शन के 5 दिन के भीतर पैसा वापस करना होगा नहीं तो ट्रांजैक्शन के बाद छठवें दिन से 100 रुपए रोजाना का ग्राहक को हर्जाना आधार पे से ट्रांजैक्शन पे देना होगा। ट्रांजैक्शन के 5 दिन बाद की समयावधि तक रकम वापस करना होगा नहीं तो छठवें दिन से 100 रुपए रोजाना हर्जाना देना होगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

विमान की सीट के नीचे मिला डेढ़ किलो सोना

कोलकाता : बैंकाक से कोलकाता आये स्पाइस जेट के विमान से कस्टम्स की एआईयू टीम ने डेढ़ किलो सोना जब्त किया है। सूत्रों के मुताबिक आगे पढ़ें »

भारत के प्रति कृतज्ञ है बंगलादेश – हसीना

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बंगलादेश की पीएम शेख हसीना के बीच शुक्रवार को एक 5 सितारा होटल में बैठक हुई। इस आगे पढ़ें »

ऊपर