कोराेना वायरस: गरीबों को मदद पहुंचाने के लिये 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा

किसान, मनरेगा मजदूर और महिलाओं को दी बड़ी राहत

नयी दिल्ली : दुनियाभर में महामरी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक दशमलव 70 लाख करोड़ रुपये पैकेज का एलान किया है। यह राशि जरूरतमंदों की सहायता के लिये दी जा रही है।इसके तहत राशन की दुकानों से 80 करोड़ परिवारों को 5 किलो गेहूं या चावल के साथ एक किलो दाल तीन महीने के लिये मुफ्त दिया जायेगा।वित्त मंत्री ने राहत पैकेज में सभी श्रेणी के लोगों की सहायता को ध्यान में रखकर यह कदम उठाया है।उन्होंने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिये जुटे डाक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिये 50 लाख रुपये के बीमा कवर की घोषणा भी की है।वहीं मनरेगा के तहत दैनिक मजदूरी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये की गई है। इससे पांच करोड़ परिवारों को लाभ होगा।उन्होंने यह भी कहा कि सरकार प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत 8.69 करोड़ किसानों को अप्रैल के पहले सप्ताह में दो-दो हजार रुपये का अग्रिम भुगतान करेगी।

देंगे एक-एक हजार रुपये की अनुग्रह राशि

सीतारमण ने तीन करोड़ गरीब वृद्धों, गरीब विधवाओं तथा गरीब दिव्यांगों को एक-एक हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने की भी घोषणा की।वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिये 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन से निपटने के लिये आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज को अंतिम रूप दिया गया है।

50 लाख का बीमा कवर

सीतारमण ने कहा कि जो लोग इस जंग को लड़ रहे हैं, चिकित्सा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं उन्हें 50 लाख का बीमा कवर दिया जाएगा इसके तहत 20 लाख कर्मचारियों को  लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि कोई गरीब भूखा न रहे, इसके लिए सरकार ने बंदोबस किया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना यह सुनिश्चित करेगी की हर गरीब को भोजन मिलता रहे। इस योजना के तहत पांच किलो अलग से गेहूं या चावल अगले तीन महीने तक देते रहेंगे। इसका लाभ 80 करोड़ लाभार्थी को मिलता रहेगा। इसके साथ ही एक किलो दाल का प्रावधान भी किया गया है।

अप्रैल के पहले हफ्ते में आ जाएंगे रुपये
अप्रैल के पहले सप्ताह में किसानों के खाते में 2000 रुपये की किस्त डाल दी जाएगी। इससे देश के 8 करोड़ 70 लाख किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि बुजुर्ग, विधवा और दिव्यांगों के लिए 1000 रुपये अलग अगले तीन महीने तक के लिए है। इसे दो किस्त में दिया जाएगा। इस वर्ग के लोगों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर किया जाएगा. इस पहल का फायदा लगभग 3 करोड़ लोगों को होगा। मनरेगा के मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी गई है। इससे प्रति मजदूर को 20 रुपये का लाभ मिलेगा।
 
20 लाख तक का ऋण
उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ महिला लाभार्थियों को लाभ मिलेगा। इन्हें तीन महीने तक मुफ्त गैस दिए जाएंगे। इसके अलावा अगले तीन माह तक महिला जनधन खाताधारकों को प्रति महीने 500 रुपये भी देंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि इसका लाभ 20 करोड़ महिलाओं को होगा। दीनदयाल योजना के तहत  स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 20 लाख तक का ऋण दिया जाएगा। पहले इनको 10 लाख तक का ऋण दिया जाता था।
शेयर करें

मुख्य समाचार

प्राइवेट अस्पतालों का सरकार पर करीब 20 हजार करोड़ रुपए बकाया जल्द पूरा करे सरकार : सीके मिश्रा

नई दिल्ली : कोरोना वायरस का प्रसार लगतार बढ़ता जा रहा है, वहीं हेल्थसेक्टर तमाम असुविधाएं झेल रहा है। कोरोना के इलाज को लेकर मेडिकल आगे पढ़ें »

वैश्विक इकोनॉमी मे रिकवरी की उम्मीद से कच्चे तेल को मिला प्रोत्साहन, निवेशक सोने से दूर हुए

नई दिल्ली : चीनी अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद ने पिछले हफ्ते सोने की कीमतों पर नकारात्मक प्रभाव डाला है। सोने की कीमतों में पिछले आगे पढ़ें »

ऊपर