कोरोना के प्रभाव से अगले छह से नौ महीनों में उबर जाएगी अर्थव्यवस्था: सीआईआई

नई दिल्ली : उद्योग जगत का मानना है कि देश की अर्थव्यवस्था कोरोना के प्रभाव से अगले छह से नौ महीनों में उबर जाएगी। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) द्वारा आयोजित एक वेबिनार में कोरोना के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने आने वाली चुनौतियों पर व्यापार जगत के दिग्गजों ने अर्थव्यवस्था को लेकर सकारात्मक राय रखी। उद्योग परिसंघ ने सरकार द्वारा उठाए गए क़दमों और जनता की प्रतिक्रिया के आधार पर अपने विचार व्यक्त किए।

सीआईआई ने कहा कि दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्र कोरोना संकट से जल्द उबार जाएंगे और आने वाले दिनों में अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देंगे। प्रतिनिधियों ने कहा कि कोरोना के कारण भविष्य में व्यवसाय का तरीका बदलेगा और डिजिटल की तरफ रुझान बढ़ेगा। इस संकट की घडी में आइटी सेक्टर ने रीढ़ के हड्डी की तरह सामना किया है, देश डिजिटल की तरफ पहले से चल रहा था, जिससे इस महामारी से कुछ हद तक लड़ने में राहत मिली। मौजूदा समय में 93-94 प्रतिशत लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं, इस से कंपनियों के काम बंद नहीं हुए। काम करने का नया तरीका विकसित हुआ और बिना किसी बाधा के काम चल रहा है, इसे देखते हुए कंपनियां भविष्य में भी घर से काम कराने को तैयार हैं।

टेलीकॉम इंडस्ट्री जीवनरक्षक बनकर सामने आई है और माना जा रहा है कि आइटी इंडस्ट्री में वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में तेजी आएगी।
वहीं सीआईआई दिल्ली के चेयरमैन आदित्य बर्लिया ने कहा कि इस दौरान अलग-अलग उद्योग क्षेत्रों में गिरावट के कारण अर्थव्यवस्था में लगभग पांच से 15 प्रतिशत की गिरावट आई है। हालांकि उम्मीद है कि अगले छह महीनों में कोरोना के प्रभाव कम होगा और अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैं गरीबों की मदद कर रहा था, इमरान के मंत्री छुट्टियां मना रहे थे : अफरीदी

इस्‍लामाबाद : शाहिद अफरीदी ने इशारों में इमरान खान सरकार पर निशाना साधा। अफरीदी के मुताबिक, इमरान सरकार में एकता की कमी है और ये आगे पढ़ें »

अक्टूबर तक फिर रिंग में लौट आयेंगे विजेंदर

नयी दिल्ली : पिछले छह महीने से रिंग से दूर भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को अगले तीन महीने में रिंग में उतरने की आगे पढ़ें »

ऊपर