कैशलेस अर्थव्यवस्था के लिए आरबीआई ने जारी किया विजन दस्तावेज

नई दिल्ली : कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुये भारतीय रिजर्व बैंक ने सुरक्षित, सुविधाजनक, तेज और सस्ती ई-भुगतान प्रणाली को लेकर एक विजन दस्तावेज जारी किया है, यह दस्तावेज आने वाले दो सालों में आनलाइन भुगतान प्रणाली में भारी वृद्धि को ध्यान में रखते हुये जारी किया गया है। रिजर्व बैंक को उम्मीद है कि दिसंबर 2021 तक देश में डिजिटल माध्यमों से होने वाला लेनदेन चार गुना से ज्यादा बढ़ेगा और 8,707 करोड़ रुपये तक पहुंच जायेगा।

रिजर्व बैंक ने भारत में भुगतान और निपटान प्रणाली: विजन 2019- 2021 दस्तावेज में ई- भुगतान के अनुभव को बेहतर बनाने और उच्च डिजिटल और कम नकदी वाला समाज बनाने की दिशा में यह कदम उठाया है। रिजर्व बेंक का कहना है कि नये सेवाप्रदाताओं और नये तौर तरीकों के आने से भुगतान प्रणाली में लगातार बदलाव जारी रहेगा। इससे उपभोक्ताओं को बेहतर लागत पर विभिन्न प्रकार के भुगतान प्रणाली के विकल्प उपलब्ध होंगे।

इस विजन दस्तावेज को 2019- 2021 के दौरान अमल में लाया जाएगा। इससे पहले पिछला विजन दस्तावेज 2016 से 2018 के लिये जारी किया गया था। देश में डिजिटल माध्यमों से होने वाला लेनदेन दिसंबर, 2018 के 2,069 करोड़ रुपये से चार गुना से अधिक बढ़कर दिसंबर 2021 तक 8,707 करोड़ रुपये तक पहुंच जाने का अनुमान है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

madhya pradesh ats

मध्यप्रदेश में आईएसआई से संबध रखने वाले 5 लोगों को एटीएस ने किया गिरफ्तार

सतना : मध्यप्रदेश में 5 लोगों को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़े होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। टेरर फ‌ंडिंग के आगे पढ़ें »

ट्रंप

भारत और अन्य देशों को आतंकवादियों से लड़ना ही होगा -ट्रंप

वॉशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि अफगानिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ भारत, ईरान, रूस और तुर्की जैसे देशों को भी आगे पढ़ें »

ऊपर