केंद्र सरकार ने रिटायर्ड कर्मचारियों को दी बड़ी राहत

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने कर्मचरियों को बड़ी राहत दी है। सरकार ने रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए पेंशन में सातवें वेतन आयोग के तहत बदलावों को मंजूरी दे दी है। कर्मचारियों को अब 7वें वेतन आयोग के तहत पेंशन का लाभ मिल सकेगा। सरकार के इस निर्णय का लाभ ऑल इंडिया सेवाओं के सदस्य और केंद्र शासित प्रदेशों के कर्मचारियों को मिलेगा। 1 जनवरी, 2016 से पहले रिटायर हुए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों सहित सभी केंद्रीय कर्मचारी 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत पेंशन का लाभ ले सकेंगे।

न्यूनतम वेतन बढ़ाने की कर रहे हैं मांग
केंद्रीय कर्मचारियों की ओर से सरकार से न्यूनतम वेतन को बढ़ा कर 26000 रुपये करने की मांग की जा रही है। रेलवे में प्रस्तावित कर्मचारी यूनियन के चुनावों में भी यह बड़ा मुद्दा बना हुआ है। फिलहाल सरकार ने कर्मचारियों के न्यूततम मूल वेतन को 7,000 से बढ़कर 18,000 रुपये प्रति माह किया है, लेकिन कर्मचारी इसे और बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। सातवें वेतन आयोग के तहत पेंशन में 2. 57 गुना की बढ़ोतरी हुई है। वहीं कर्मचारियों की ओर से 7 वें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत 3. 68 गुना तक फिटमेंट फैक्टर बढाए जाने की मांग की जा रही है।

सातवें पे कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने आंकड़ों के आधार पर कहा है कि 5वें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार सरकार में न्यूनतम पेंशन 1,275 रुपये थी। 2006 के पूर्व पेंशनरों की सामान्य संशोधित पेंशन पूर्व-संशोधित मूल पेंशन का 2. 26 है। साथ ही 3,500 रुपये की संशोधित न्यूनतम पेंशन 1,275 रुपये की पूर्व-संशोधित पेंशन के 2. 26 गुना से बहुत अधिक है।

रेल कर्मचारियों की यूनियनों का चुनाव 28 व 29 जुलाई को होना है। इस चुनाव में न्यूनतम पेंशन को बढ़ाए जाने के साथ ही एनआरएमयू चुनावों में कर्मचारियों के माता व पिता को मेडिकल सुविधा व पास दिलाने के वादे के साथ जा रही है। रेलवे में फिलहाल यह व्यवस्था है कि किसी कर्मचारी के पिता की मृत्यु हो जाने पर ही उसकी मां को मेडिकल व पास की सुविधा मिलती है, जबकि यूनियन की मांग है कि कर्मचारी पर आश्रित उसके माता व पिता को मेडिकल व पास की सुविधा अनिवार्य तौर पर मिलनी चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दुनिया के उद्योगपति बंगाल में करें निवेश – ममता

बंगाल आपका स्वागत करता है : सीएम दीघा में शुरू हुआ दो दिवसीय बंगाल ​पिजनेस कांक्लेव सन्मार्ग संवाददाता दीघा : नये उद्योग में निवेश के लिए बंगाल की आगे पढ़ें »

momota

हम लोगों में विभाजन नहीं करते : ममता

सन्मार्ग संवाददाता दीघा : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि विविधता में एकता राज्य की परंपरा है। यहां लोगों को जाति, आगे पढ़ें »

भाजपा संविधान के ‘वी द पीपल’ को ‘वी द हिंदू’ में बदल रही है : तेजस्वी यादव

पश्चिम चंपारण में यौन शोषण के बाद जिंदा जलाई गयी युवती की मौत

बिहार कांग्रेस ने नागरिकता बिल के विरोध में निकाला मार्च

निर्माण श्रमिकों को शीघ्र उपलब्ध करायें चिकित्सा सहायता राशि : सुशील मोदी

assam

नागरिकता बिल : नॉर्थ-ईस्ट में छात्रों का प्रदर्शन हुआ उग्र, 5000 अर्द्धसैनिक बल तैनात

sindhiya

सिंधिया ने कहा-भारतीय संस्कृति और संविधान के खिलाफ है नागरिकता संशोधन विधेयक

britain

हिंदी गानों में हो रहा बिट्रेन चुनाव प्रचार,अनुच्छेद 370 और जलियांवाला हत्याकांड पर वोट की होड़

actor

रणवीर सिंह को मिला बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड, शाहिद ने दिखाई नाराजगी

ऊपर