कार्पोरेट कर छूट सिर्फ कंपनियों को

50 करोड़ से कम टर्नओवर पर फर्मों, प्रोपरायटरशिप, पार्टनरशिप में लाभ नहीं

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 50 करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाली कंपनियों को कार्पोरेट टैक्स में 5 प्रतिशत की राहत देने की घोषणा की है। इन्हें अब 30 प्रतिशत की जगह 25 प्रतिशत कर देना होगा। जेटली के अनुसार इससे 96 प्रतिशत कंपनियों को राहत मिलेगी। मध्यम एवं लघु उद्योग क्षेत्र के लोग खुश हुए थे कि उन्हें कार्पोरेट टैक्स में 5 प्रतिशत की छूट मिल गई, लेकिन यह छूट वास्तव में सिर्फ उन फर्मों के लिए है जिनका पंजीकरण एक कंपनी के रूप में है। अपंजीकृत, निजी मालिकाना और भागीदारी फर्में इसके दायरे से बाहर हैं।
यह है पूरा मामला
वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट में कहा था – वित्त वर्ष 2015-16के आंकड़ों के अनुसार 1 करोड़ रुपये से कम लाभ कमाने वाली 2.85 लाख कंपनियां 30.26 प्रतिशत की दर से कर दे रही हैं, जबकि 500 करोड़ रुपये से अधिक लाभ कमाने वाली 298 कंपनियां 25.90 प्रतिशत की दर से कर चुकाती हैं। इसलिए एमएसएमई कंपनियों को और व्यवहार्य बनाने के लिए और फर्मों को भी कंपनी में बदलने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु 50 करोड़ रुपये तक का वार्षिक कारोबार करने वाली छोटी कंपनियों का आयकर घटाकर 25 प्रतिशत करने का प्रस्ताव है।
इसलिए की घोषणा
कार्पोरेट टैक्स दर 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत करने के लिए व्यावसायिक संगठनों का काफी दबाव था। जेटली ने 2015 में अपने बजट भाषण में कहा था कि वह कार्पोरेट टैक्स घटाकर 25 प्रतिशत करना चाहते हैं।
एक छोटा कदम उठाकर उन्होंने संकेत दिया है कि वह ऐसा करना तो चाहते हैं, लेकिन कोई विकल्प नहीं हैं।

 मात्र 1.25 प्रतिशत उद्यमों को राहत

पंजीकृत कंपनियां जिनका कारोबार 50 करोड़ रुपये से कम है, काफी कम हैं। गैर पंजीकृत कंपनियां- निजी मालिकाना और पार्टनरशिप फर्में कर छूट के दायरे से बाहर हो जाएंगी। देश में लगभग 5 करोड़ एमएसएमई हैं। इनमें 6 लाख 94 हजार कंपनियां हैं। 6 लाख 67 हजार कंपनियों का कारोबार 50 करोड़ रुपये से कम है। केवल इन्हें ही 5 प्रतिशत छूट का लाभ मिलेगा। इसका अर्थ है कि 5 करोड़ में से लगभग 1.25 प्रतिशत लघु एवं मध्यम उद्योगों को ही कर छूट का लाभ मिल पाएगा। इसके पीछे सरकार का प्रमुख उद्देश्य अधिक संख्या में कारोबारियों को कंपनी प्रारूप अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना है।

 

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

राम माधव ने कहा- भारत के चुनावों से दूर रहें पाकिस्तान, सलाह नहीं चाहिए

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव राम माधव ने पाकिस्तान को भारत में हो रहे चुनाव से दूर रहने को कहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि सरहद पार के लोगों से सलाह नहीं चाहिये। माधव ने [Read more...]

हनुमान जयंती : भोग के लिए बना 38.25 क्विंटल का प्रसाद, बनाने में हुआ क्रेन, बुलडोजर और मशीन का इस्तेमाल

जयपुरः जय सियाराम सेवा समिति (आश्रम) परिसर में हनुमान जयंती के अवसर पर शुक्रवार को हनुमान जी की चार प्रतिमाओं की प्राण-प्रतिष्ठा की जाएगी। इसके लिए 38.25 क्विंटल रोट का भाेग लगाया जाएगा। प्रसादी बनाने में क्रेन, बुलडोजर और [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

ट्रंप ने आखिर क्यों ट्विट कर कहा ‘गेम ओवर’

तलाक के बाद छलका अरबाज का दर्द बोले- ‘सब ठीक चल रहा था लेकिन…’

राम माधव ने कहा- भारत के चुनावों से दूर रहें पाकिस्तान, सलाह नहीं चाहिए

हनुमान जयंती : भोग के लिए बना 38.25 क्विंटल का प्रसाद, बनाने में हुआ क्रेन, बुलडोजर और मशीन का इस्तेमाल

व्हाट्सऐप ने बधाई सुरक्षा, अब नहीं ले सकेंगे स्क्रीन शॉट

सुषमा के बयान पर पाकिस्तान का पलटवार, कहा- भारत स्वीकारे 2016 में नहीं हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक

घाटे के बाद भी निजी कंपनियों को बीएसएनएल ने दिया टक्कर

लोकसभा चुनाव : 24 साल बाद माया और मुलायम एक मंच पर होंगे

मसूद अजहर पर प्रतिबंध के मुद्दे पर किसी के दबाव में नहीं आएगा पाकिस्तान : विदेश मंत्रालय

19 अप्रैल से स्‍थगित रहेंगे सभी एलओसी कारोबार, आतंकी कर रहे थे इस रूट का इस्तेमाल : गृहमंत्रालय

ऊपर