कर्ज सस्ता होने और सरकार के प्रयासों से आर्थिक वृद्धि में जल्द तेजी आएगी: आरबीआई गवर्नर

नई दिल्ली : आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने अर्थव्यवस्था में जल्द तेजी का भरोसा दिलाते हुए कहा कि कर्ज सस्ता होने और सरकार की तरफ से कदम उठाए जाने से आर्थिक वृद्धि में जल्द तेजी आएगी। अर्थव्यवस्था में दिख रही नरमी बुनियादी कारणों से नहीं है, बल्कि यह चक्रीय कारणों से है।

उन्होंने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सरकार की ओर से और कदम उठाने की उम्मीद जताई। मार्च तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर पांच साल के न्यूनतम स्तर 5.8 फीसद रही और जून तिमाही में इसमें और गिरावट की आशंका है। मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने 2019-20 की आर्थिक वृद्धि दर के जून में लगाए गए 7 फीसद के अनुमान को घटाकर 6.9 फीसद कर दिया। दास ने कहा कि वृद्धि दर का अनुमान कम किया गया है, लेकिन यह गिरावट के जोखिम के साथ नहीं है। एमपीसी के नीतिगत दर में कटौती के बाद दास ने कहा कि आरबीआई की समझ है कि वृद्धि दर में नरमी इसके चक्रीय प्रभाव की वजह से है, बुनियादी वजह नहीं है।

उन्होंने दूसरी छमाही में वृद्धि में तेजी की उम्मीद जताई। मौद्रिक नीति समिति ने चौथी बार रेपो दर में कटौती की है। दास ने नीतिगत दर में कटौती का लाभ ग्राहकों को देने पर संतोष जताया और कर्ज में वृद्धि की उम्मीद जताई, जिससे वृद्धि को गति मिलेगी। आरबीआई गवर्नर ने उम्मीद जताई कि नीतिगत दर में अधिक कटौती के बाद से बैंक भी कर्ज की ब्याज दर में कटौती करेंगे। फरवरी से जो कटौती की गई है, मुद्रा बाजार उसका पूरा उपयोग कर चुका है। मौद्रिक नीति को नरम बनाने से आने वाले समय में आर्थिक गतिविधियों को गति मिलने की उम्मीद है। उन्होंने बैंकों द्वारा उच्च ब्याज दर बरकरार रखने की बात से इनकार किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर