तेल की कीमतों में होगा इजाफा, ओपेक देशों ने लिया फैसला

नई दिल्लीः तेल उत्पादक देशों ने तेल की घटती कीमतों के बाद एक बार फिर से तेल उत्पादन में कटौती का फैसला किया है। यह कटौती रोजाना 1.2 मिलियन बैरल बताया जा रहा है। ओपेक देशों के इस कदम ने फिर से मोदी सरकार की चिंता बढ़ा दी है। इससे अब भारत में तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी होगी। माना जा रहा है कि तेल की कीमतों में यह बदलाव जनवरी से लागू हो सकता है।
इस मुद्दे पर ओपेक सदस्‍यों आैर 10 अन्य तेल उत्पादक देशों के बीच बैठक हुई। ओपेक के इस फैसले के तुरंत बाद कच्चे तेल की कीमत में 5 प्रतिशत का भारी उछाल देखा गया। भारत अपनी जरूरत का ज्यादातर कच्चा तेल आयात करता है। ऐसे में कीमत में इजाफे का भारतीय अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ने की आशंका है, जो मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। दुनिया भर में तेल उत्पादन का आधा हिस्सा ओपेक और उसके साझेदार देशों से ही आता है। ओपेक की हुई अहम बैठक में यह एकराय बनी कि तेल उत्पादन अधिक होने की वजह से पिछले दो महीने में कीमतें 30% से ज्यादा गिरी हैं।
इससे पहले अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में अक्टूबर से शुरू हुई गिरावट भारत के लिए बड़ी राहत की खबर साबित हुई थी लेकिन अब कीमतों में इजाफे से सरकार पर एक बार फिर एक्साइज ड्यूटी में कटौती का दबाव बनेगा।







एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

रामपाल को झटका, हाईकोर्ट ने खारिज की जेल बदलने की मांग

चंडीगढ़ः हरियाणा के हिसार सेंट्रर जेल में बंद कथित संत रामपाल की जेल बदलने की मांग को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। कोर्ट ने हरियाणा सरकार का पक्ष सुनने के बाद रामपाल की याचिका को खारिज कर [Read more...]

भारत चीन के दूसरे क्षेत्र एवं सड़क फोरम का बहिष्कार करेगा

बीजिंग : भारत ने बुधवार को चीन के दूसरे क्षेत्र एवं सड़क (बेल्ट एंड रोड) फोरम के बहिष्कार के संकेत देते हुये कहा कि कोई देश ऐसी किसी मुहिम का हिस्सा नहीं हो सकता है जो स्वायत्तता और क्षेत्रीय अखंडता [Read more...]

मुख्य समाचार

रामपाल को झटका, हाईकोर्ट ने खारिज की जेल बदलने की मांग

चंडीगढ़ः हरियाणा के हिसार सेंट्रर जेल में बंद कथित संत रामपाल की जेल बदलने की मांग को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। कोर्ट ने हरियाणा सरकार का पक्ष सुनने के बाद रामपाल की याचिका को खारिज कर [Read more...]

लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी मायावती

उनके खुद चुनाव जीतने की बजाय गठबंधन की जीत जरूरी लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है। बुधवार को उन्होंने कहा कि वे गठबंधन को जिताना चाहती हैं और उनके [Read more...]

ऊपर