ऑनलाइन कंपनी बिग बास्केट ने शुरू किया डिलीवरी, 10,000 लोगों को रखेगी काम पर

नई दिल्ली : ऑनलाइन किराना प्लेटफॉर्म बिग बास्केट अब डिलीवरी शुरू कर रही है और इसके लिए कंपनी 10,000 लोगों को काम पर रखेगी। बिगबास्केट के उपाध्यक्ष तनूजा तिवारी ने कहा कि हम अपने गोदामों और सामान की डिलीवरी के लिए 10,000 लोगों को नियुक्त करना चाहते हैं। यह हायरिंग उन सभी 26 शहरों में होगी, जहां हम अपनी सेवाएं देते हैं।

दरअसल देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की वजह से ई-कॉमर्स कंपनियों को आर्डर देने में दिक्कत आ रही है। सरकार ने ई-कॉमर्स प्लेटफार्मों के माध्यम से खाद्य फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरण सहित आवश्यक सामानों की डिलीवरी की अनुमति दी है, लेकिन डिलीवरी स्टाफ को पुलिस परेशान कर रही है। गोदामों चलाने में बाधा और ट्रक को राज्य की सीमाओं से बाहर जाने से रोकने से ई-कॉमर्स कंपनियों का कार्य बाधित हो रहा है।

कंपनियां पेंडिंग आदेशों को पूरा करने के लिए काम कर रही हैं और कुछ कंपनियां लोगों को अपने ऑर्डर रद करने का विकल्प दे रही हैं और पेंडिंग आर्डर के चलते नए ऑर्डर लेने में भी देरी कर रही हैं। उद्योग के सामने सीमित कर्मचारियों की उपलब्धता भी बड़ी समस्या है।आपको बता दें कि इन दिनों कंपनी के गोदामों और डिलीवरी टीम में 50 फीसद कर्मचारियों की कमी है और कंपनी ने सभी शहरों में ऑर्डर लेना शुरू कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आयी कोरोना वायरस संक्रमण की बाढ़

कोलकाता : बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 435 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान मरने वालों की संख्या आगे पढ़ें »

बॉयकॉट ने बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ी

लंदन : इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जैफरी बॉयकॉट ने कोरोना की वजह से बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ दी है। वे 14 साल आगे पढ़ें »

एशिया कप में खेलना सपने सच होने जैसा : कप्तान आशा लता

बड़ी कामयाबी : होम्योपैथी दवा के हमले से ढेर हुआ कोराेना, 42 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ

इंसानियत हुई तार-तार : गर्भवती हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, देशभर में आक्रोश

मिथिला की बेटी मधु माधवी का प्रतिष्ठित जेम्स वॉट मेडल के लिए हुआ चयन

पाक ने की नापाक हरकत, जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास चौकियों पर की अकारण गोलीबारी

SUPREME COURT

क्या निजी अस्पताल कोरोना मरीजों का फ्री इलाज करने को तैयार हैं : सुप्रीम कोर्ट

बड़ा कदम : निजी अस्पतालों का कोरोना इलाज शुल्क 15 हजार रुपये अधिकतम सीमा हुआ तय

50 हजार पेड़ लगायेगी कोलकाता पुलिस : सीपी

ऊपर