ऑटो एक्सपो 2020 में जेबीएम ऑटो ने लॉन्च किया इलेक्ट्रिक बस

ग्रेटर नोएडा : सरकार द्वारा ग्रीन मोबिलिटी को बढ़ावा देने के मद्देनजर भारत की प्रमुख वाहन कंपनी जेबीएम ऑटो ने ऑटो एक्सपो 2020 में अपनी इको-लाइफ ई9 इलेक्ट्रिक बसों को पेश किया। आकर्षक डिजाइन वाले टच स्क्रीन डैशबोर्ड जीरो एमिसन व्हीकल (जेडईवी) ईको-लाइफ 10 वर्ष परिचालन में लगभग 1000 टन के बराबर कार्बन डाईआॅक्साइड और 350,000 लीटर डीजल की बचत करती है।

तेजी से चार्ज होने वाली लिथियम बैटरियों वाली ईको-लाइफ एक बार चार्ज होने पर 125-150 किलोमीटर (शहर की ट्रैफिक स्थिति के आधार पर) चल सकती है। जेबीएम का फोकस ई-मोबिलिटी यानी इलेक्ट्रिक बस, बैटरी टेक्नोलाॅजी, शहर में आॅपरेटिंग पैटर्न पर आधारित चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए संपूर्ण इकोसिस्टम साॅल्युशन मुहैया कराना और इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट में वन-स्टाॅप साॅल्युशन उपलब्ध कराना है।
ईको-लाइफ को लिथियम बैटरियों के साथ पेश किया गया है, जिन्हें फास्ट प्लग-इन चार्जिंग सिस्टम के जरिये चार्ज किया जाता है।

अब चेक क्लीयर करवाना होगा आसान, आरबीआई जल्द लागू करेगी यह सिस्टम

संपूर्ण फ्लेक्सीबल साॅल्युशन प्रदान कर, इलेक्ट्रिक बस टेक्नोलाॅजी जनसांख्यिकीय और भौगोलिक स्थितियों के आधार पर शहर में बस परिचालन के लिए पूरी तरह अनुकूल है। लार्ज विंडोज जे बीएम ग्रुप के कार्यकारी निदेशक निशांत आर्य ने कहा कि हमें बगैर उत्सर्जन वाले सार्वजनिक परिवहन साॅल्युशन सुनिश्चित करने के लिए लंबी यात्रा करनी है और इस दिशा में इलेक्ट्रिक बसें एक उत्प्ररेक होंगी। मौजूदा समय में दुनियाभर के देश मजबूत ईवी नीतियां बनाने पर जोर दे रहे हैं और यदि भारत फेम-2 का लक्ष्य हासिल कर लेता है तो वह ई-वाहनों की संख्या के संदर्भ में दुनिया के टाॅप-3 देशों में शुमार हो जाएगा।

इससे लगभग एक करोड़ रोजगार पैदा होंगे और ई-मोबिलिटी स्पेस तथा संबद्ध क्षेत्रों में परोक्ष एवं अपरोक्ष तरीके से कई विकल्प खुलेंगे। ई12 के साथ साथ ईको-लाइफ ई9 ने हमारे इलेक्ट्रिक बस पोर्टफोलियो का विस्तार किया है। ई12 को पिछले आॅटो एक्सपो में लाॅन्च किया गया था। ईको-लाइफ सीरीज को सरकार के मेक इन इंडिया विजन को ध्यान में रखते हुए स्थानीय तौर पर तैयार किया गया है।  ईको-लाइफ का निर्माण फरीदाबाद (हरियाणा) और कोसी (उत्तर प्रदेश) में कंपनी के हाई-टेक संयंत्रों में किया गया है। ये संयंत्र सालाना 2000 बसों के निर्माण की क्षमता से संपन्न हैं।

आरबीआई ने रेपो रेट एवं रिवर्स रेपो रेट में नहीं किया कोई बदलाव

ईको-लाइफ में अधिकतम शक्ति और न्यूनतम वजन सुनिश्चित करने के लिए काॅरोजन रेसिस्टेंट लैडर फ्रैम स्ट्रक्चर शामिल किया गया है।
ईको-लाइफ को इलेक्ट्राॅनिक ब्रेकिंग सिस्टम और नवीनतम इलेक्ट्रिक ड्राइव सिस्टम के साथ पेश किया गया है। इसमें आकर्षक डिजाइन वाला टच स्क्रीन डैशबोर्ड चालकों के लिए उपयोगकर्ता-अनुकूल सिस्टम है जो उनके लिए बगैर व्यवधान पैदा किए ड्राइविंग पर ध्यान केंद्रित करने में मददगार है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

corona

अपोलो छह शहरों में ओयो होटल्स में आइसोलेशन रूम विकसित करेगी, 50 फीसदी कमरे होंगे निःशुल्क

नई दिल्ली: ओयो ने आज घोषणा किया है कि कोविड 19 के संदिग्ध या मरीज़ों के लिए क्वारंटाईन/ सेल्फ-आईसोलेशन सुविधाओं के लिए अकाॅमोडेशन में सहयोग आगे पढ़ें »

बंगाल के सभी जिलों में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए होगा नोडल अस्पताल: ममता बनर्जी

कोलकाता : कोरोन वायरस संक्रमण से बचाव के लिए राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार कोविड-19 के मरीजों के आगे पढ़ें »

बंगाल टेनिस संघ कोरोना वायरस से निपटने के लिए देगा एक लाख रुपये दान

व्हाट्सऐप ग्रुप में फर्जी सूचना साझा करने पर बंगाल से महिला गिरफ्तार

कोरोना के इलाज के लिए मैनकाइंड फार्मा 51 करोड़ रुपये के वेंटिलेटर्स व मेडिकल उत्पाद कराएगी मुहैया

कोरोना मरीज का उपचार कर रहे सेवा कर्मियों का बहिष्कार करने पर होगी गिरफ्तारी :

फर्जी खबरें फैलाने और ट्रोल करने के बजाए लोगों की जरूरतों पर ध्यान देने की आवश्यकता : ब्रायन

ममता बनर्जी की अपील के बाद कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शैक्षणिक संस्थानों ने दिया दान

मास्क पहन दूल्हा-दुल्हन ने की शादी, कोरोना वायरस को दिखाया ढेंगा

कोरोना वायरस से बुजुर्गों के बचाव के लिये स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किये परामर्श

ऊपर