ऐसे उठा सकते हैं एनपीएस में छुट का लाभ

नई दिल्ली : नेशनल पेंशन योजना (एनपीएस) ने ईपीएफओ से कहीं ज्यादा रिटर्न दिया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते 10 साल में केंद्रीय और राज्य कर्मचारियों को एनपीएस में 9.1% और 9. 5% का रिटर्न मिला है, जबकि ईपीएफओ में यह आंकड़ा 8.7% है। अब सरकार ने इसमें निवेश को कर मुक्त करने का भी प्रावधान कर दिया है।

टैक्स एक्सपर्ट अनिल के श्रीवास्तव के मुताबिक एनपीएस के तहत दो तरह के खाते आते हैं – टियर 1 और टियर 2। टियर 1 एनपीएस खाता अनिवार्य होता है, जबकि टियर 2 खाता 1 स्वैच्छिक बचत खाता है। इसे कोई भी खोल सकता है और कभी भी निकासी की जा सकती है।

कर्मचारी को फायदा
इनकम टैक्स एक्ट की सेक्शन 80 सीसीडी(1) के तहत कर्मचारी को एनपीएस में योगदान पर कर छूट मिलती है और सेक्शन 80 सी के तहत कर छूट की राशि 1. 50 लाख रुपए से ऊपर नहीं हो सकती। अन्य लोगों के लिए यह सीमा ग्रॉस इनकम की 20 फीसदी है।
सेक्शन 80 सीसीडी 1 (बी) के तहत कर्मचारी स्वैच्छिक रूप से एनपीएस में अतिरिक्त 50 हजार रुपए का निवेश कर सकते हैं, जबकि सेक्शन 80 सी के तहत 1. 50 लाख रुपए और अतिरिक्त 50 हजार का निवेश कर कोई भी कर्मचारी 2 लाख रुपए तक की कर छूट पा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर