सालाना पचास लाख होगी यात्री वाहनों की मांग

नयी दिल्लीः उद्योग मंडल एसौचेम व रोलैंड बर्गर के अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में यात्री वाहनों की सालाना औसत वृद्धि दर 7.7 प्रतिशत है। इस रफ्तार से वित्त वर्ष 2018 के 33 लाख की तुलना में 2023 में यात्री वाहनों की बिक्री 50 लाख सालाना हो जाने की उम्मीद है। ‘हरित परिवहन की और अग्रसर’ शीर्षक के इस अध्ययन में कहा गया है कि अमेरिका और चीन जैसी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भारत में चौपहिया वाहनों की संख्या कम है और इसे देखते हुये इस वर्ग में मांग बढ़ने की खासी संभावनाएं मौजूद हैं। माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के क्रियान्वयन से विनिर्माण परिचालन मजबूत होगा और वितरण तंत्र में सुधार से भी वाहनों की मांग में बढ़ोतरी का अनुमान है। क्षमता से अधिक माल लादने पर प्रतिबंध, 2020 से पुराने वाहनों को हटाने की नीति के अमल में आने और जीएसटी क्रियान्वयन से मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहनों के वर्ग में मांग बढ़ने के अच्छे संकेत हैं।
इनका रहेगा दबदबा
स्पोर्ट्स यूटीलिटी वाहनों (एसयूवी) और क्रॉसओवर मॉडलों के भविष्य में भी अपना दबदबा बनाये रखने की उम्मीद है। 2018 से 2023 के दौरान इस वर्ग की औसत वृद्धि दर 12 प्रतिशत बनी रहने की उम्मीद है। घरेलू बाजार में वाणिज्यिक वाहनों की मांग 2018 के आठ लाख 32 हजार की तुलना में सालाना औसतन 5.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी से दस लाख प्रतिवर्ष पार करने की उम्मीद है।
निर्माण क्षेत्र के लिए उपकरण
मशीनीकरण के प्रति बढ़ते रुख से कृषि के साथ-साथ निर्माण क्षेत्र के लिए उपकरणों की मांग बढ़ने की संभावना जताई गई है। घरेलू स्तर पर ऑफ-हाईवे मशीनरी बिक्री के 2017 के सालाना 7,49,000 के मुकाबले 2022 में 8,70,000 पर पहुंचने की उम्मीद है। सरकार के प्रदूषण फैलाने वाले ईंधन के स्थान पर स्वच्छ ईंधन के इस्तेमाल की तरफ बढ़ते इरादे भी भारत की स्थिति को मजबूत करेंगे। ऑटो उपरकण आपूर्तिकर्ताओं को हरित प्रौद्योगिकी हासिल करने के लिए तेजी से आगे बढ़ना होगा। इस लक्ष्य के लिए प्रौद्योगिकी अधिग्रहण, सहयोग और क्षमता का इस्तेमाल जरूरी बिंदु होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

delhis

दिल्ली के जाफराबाद में सीएए के‌ विरो‌धियों और समर्थकों के बीच पत्थरबाजी, कई घायल

नई दिल्ली : दिल्‍ली के जाफराबाद के पास मौजपुर इलाके में रविवार की दोपहर पत्थरबाजी की घटना सामने आई है। यहां संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) आगे पढ़ें »

congress

विपक्ष के पास संसद में बहुमत नहीं है, सीएए को स्वीकार कर लेना ही उचित होगा : कांग्रेस विधायक

इंदौर : संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) पर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता लक्ष्‍मण सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने अपनी पार्टी के रुख से एकदम आगे पढ़ें »

ऊपर