एसबीआई ने होम लोन की ब्याज दरों में की कटौती, नए घर घर खरीदारों को होगा फायदा

नई दिल्ली : इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। सरकार ने बैंकों को आश्वस्त किया है, जिससे बैंक भी उपभोक्ताओं के लिए लगातार लोन ब्याज दरों में कटौती कर रहे हैं, जिससे लोगों के क्रय करने की क्षमता बढ़े। इस क्रम में देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने ब्याज दरों में कटौती की है। बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (ईबीआर) में कमी है और ब्याज दर में 0.25 फीसद की कटौती है, जो 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी होंगी। बैंक ने एक बयान में कहा है कि ब्याज दर में इस कमी के साथ अब ईबीआर 8.05 फीसद प्रति वर्ष से घटकर 7.80 फीसद सालाना रह गया है।

बीएसएनएल ने नवंबर के वेतन आपूर्तिकर्ताओं का 1,700 करोड़ रुपये का किया भुगतान

बैंक के इस फैसले से लोन लेने वालों को फायदा होगा। बैंक ने एक बयान में कहा है कि नए मकान खरीदारों के लिए अब ईबीआर आधारित ब्याज दर की शुरुआत 7.90% से होगी, जो पहले 8.15 फीसद थी।

क्या है ईबीआर
आरबीआई इस साल रेपो रेट में 1.35 फीसद की कटौती कर चुका है, फ़िलहाल रेपो रेट 5.15 फीसद के स्तर पर है। बैंक ईबीआर के लिए रेपो रेट + 2.65 फीसद का फॉर्मूला अपनाता है। साथ ही बैंक होम लोन पर 0.10 फीसद से लेकर 0.75 फीसद तक का अतिरिक्त प्रीमियम भी लेता है।

भारत, जर्मनी व जापान अगले 15 वर्षों में तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए प्रतिस्पर्धी होंगे: रिपोर्ट

एमसीएलआर में कटौती
आरबीआई द्वारा रेपो रेट में किए इस साल की गई कमी का फायदा ग्राहकों को मिलेगा। साल में आठवी बार इस महीने बैंक ने एमसीएलआर आधारित ब्याज दर में कटौती की थी। बैंक ने एक साल के एमसीएलआर में 0.10 फीसद कटौती की घोषणा की थी और बैंक का एक साल का एमसीएलआर घटकर 7.90 फीसद रह गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर