एसबीआई अपने खाताधारकों को देगा ये बड़ा उपहार

नई दिल्ली: सरकार से दबाव के बाद देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक न्यूनतम राशि की शर्त में कुछ छूट दे सकता है। वर्तमान में शहरी इलाकों में खाता जारी रखने के लिए 3000 रुपए मिनिमम बैलेंस जरूरी है। बैंक हर महीने मिनिमम बैलेंस रखने के नियम को बदलकर 3 महीने कर सकता है। हाल में एसबीआई ने मिनिमम बैलेंस से 1,772 करोड़ रुपए कमाए थे। बैंक ने ये रकम अप्रैल से नवंबर के बीच ग्राहकों पर पेनल्टी लगाकर कमाई।
1 हजार हो सकता है मिनिमम बैलेंस
सूत्रों के मुताबिक बैंक मिनिमम बैलेंस को 3 हजार से घटाकर 1 हजार रुपए कर सकता है। हालांकि बैंक ने अभी फैसला नहीं लिया है। एसबीआई ने जून में 5 हजार रुपए मिनिमम बैलेंस रखा था। जनता के दबाव के बाद इसे शहरी इलाकों में 3 हजार, छोटे शहरों में 2 हजार और ग्रामीण क्षेत्रों में 1 हजार रुपए किया गया। उस समय बैंक ने पेंशनर और माइनर को पेनल्टी में छूट दी थी। बैंक ने पेनल्टी भी 25 से 100 रुपए तक लगने वाली पेनल्टी को घटाकर 20 से 50 रुपए कर दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर