एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस को चालू साल की पहली तिमाही में 611 करोड़ रुपये का मुनाफा

नई दिल्ली : एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस ने चालू साल की पहली तिमाही के नतीजे पेश कर दिए हैं। 30 जून को खत्म हुए इस तिमाही में कंपनी का मुनाफा 568 करोड़ रुपये से बढ़कर 611 करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी की ब्याज से इनकम में 18 फीसदी का उछाल देखने को मिला है और ब्याज से इनकम 4059 करोड़ से बढ़कर 4807 करोड़ रुपये हो गई है।

कंपनी ने शेयर बाजारों को भेजी गई सूचना में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी ऑपरेटिंग इनकम बढ़कर 4,815.57 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले माली साल की समान तिमाही में 4,068. 93 करोड़ रुपये थी। इस बारे में एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सिद्धार्थ मोहंती ने बताया कि हाउसिंग सेक्टर में चल रहा मंदी का दौर जल्द खत्म होने वाला है, नकदी की किल्लत भी धीरे धीरे दूर हो रही है।

उन्होंने बताया कि हाउसिंग सेक्टर में अफोर्डेबल हाउस की डिमांड है, जो लोग अफोर्डेबल हाउसिंग सेक्टर में काम करते है, उनके लिए अच्छा वक्त आने वाला है, क्योंकि, हाउसिंग सेक्टर का बुरा दौर अब खत्म हो रहा है, हम अच्छे दौर की तरफ बढ़ रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

समय की हो कमी तो शाम को करें वर्कआउट, ये हैं फायदें

नई दिल्ली : कामकाजी लोगों के लिए सुबह जिम जाना या वर्कआउट करने में परेशानी होती है, लेकिन शाम को भी वर्कआउट किया जा सकता आगे पढ़ें »

भारत से व्यापर संबंध तोड़ने के बाद पाक में जीवनरक्षक दवाओं की किल्लत

नई दिल्ली : भारत के साथ व्यापार संबंध तोड़ने के फैसले के बाद यहां कई समानों की किल्लत होने लगी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक आगे पढ़ें »

महंगे बिल की शिकायतों के बाद केबल टैरिफ की समीक्षा करेगी ट्राई

पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लिए बैंकों ने किया विचार-मंथन

बासुकीनाथ में अब पूजा अर्चना के लिए बनेंगे आजीवन दाता कार्ड

आतंकवादियों को अलग-थलग करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है कश्मीर पुलिस : डीजीपी

flood

हिमाचल : बारिश और बाढ़ की चपेट में आने से 8 लोगों की मौत, प्रदेश के 323 सड़के क्षतिग्रस्त

Gun-shot 1

आरपीएफ जवान ने गोलीमार कर की रेलकर्मी समेत उसकी पत्नी और पुत्री की हत्या

saho

इस फिल्‍म के नए पोस्टर में दिखी प्रभास और श्रद्धा कपूर की लव केमिस्ट्री

rajnath

रक्षामंत्री ने पाक को दी चेतावनी, पीओके के अलावा किसी दूसरे विषय पर बातचीत नहीं होगी

ऊपर