एयर इंडिया में बोली लगाने की यह है अंतिम तिथि, सरकार बेंच रही है 100 प्रतिशत हिस्सेदारी

air india

नई दिल्ली : लगातार घाटे  में चल रही एयर इंडिया को बेचने के लिए सरकार ने 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने को लेकर आरंभिक सूचना जारी की है और इस रणनीतिक विनिवेश के तहत सरकार एयर इंडिया एक्सप्रेस में अपनी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी और ज्वाइंट वेंचर एआईएसएटीएस में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेगी।

फूडटेक कंपनी डीएस ग्रुप ने नया ब्रांड ‘नेचर मिरेकल’ लॉन्च किया

विनिवेश के समाप्ती होने तक एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस पर 23,286 करोड़ रुपये का कर्ज बना रहेगा। शेष कर्ज को एआईएएचएल को ट्रांसफर किया जाएगा। एयर इंडिया की विनिवेश प्रक्रिया के लेनदेन की सलाहकार कंपनी इवाई है। सफल बोली लगाने वाले को एयरलाइन का मैनेजमेंट कंट्रोल भी ट्रांसफर किया जाएगा और एयर इंडिया के लिए बोली लगाने की अंतिम तिथि 17 मार्च है। एआईएसएटीएस एयर इंडिया और सिंगापुर एयरलाइंस का संयुक्त उद्यम है, जिसमें दोनों की बराबर की हिस्सेदारी है।

फेसबुक इंडिया करेगा विस्तार, अब ये होंगे नए मार्केटिंग डायरेक्टर

एयर इंडिया की हिस्सेदारी एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज, एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज और एयरलाइन एलाइड सर्विसेज एंड होटल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में भी है और इन इकाइयों को एक अलग कंपनी एयर इंडिया एसेट्स होल्डिंग लिमिटेड में प्रक्रिया चल रही है और प्रस्तावित हिस्सेदारी की बिक्री में इन्हें शामिल नहीं किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में हो सकती है एक प्रतिशत की कमी : संरा

संयुक्त राष्ट्र : कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से दुनियाभर में फैली महामारी के कारण संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में आगे पढ़ें »

कोरोना से राहत के लिए लक्ष्मी मित्तल ने पीएम-केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की

नई दिल्ली : दुनिया के हर कोने में लोगों को कोविड-19 के कारण व्यापक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  भारत जैसे देश, जहां आगे पढ़ें »

ऊपर