एयर इंडिया को परिचालन के लिए 2,400 करोड़ रुपये की जरूरत

air india

नई दिल्ली : लंबे समय से वित्तीय संकट का सामना कर रही सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया को परिचालन संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए 2,400 करोड़ रुपये की जरूरत है। कंपनी ने कर्मचारियों को अभी तक नवंबर का वेतन नहीं दिया है। कंपनी के एक अधिकारी का कहना है कि गुरुवार को वेतन जारी हो जाएगा।

कंपनी ने सरकार से गारंटी का आग्रह किया है। कंपनी के एक अधिकारी के अनुसार 2,400 करोड़ रुपये की यह राशि 7,600 करोड़ रुपये की उस गारंटी का हिस्सा है, जो उसे चालू वित्त वर्ष में केंद्र सरकार ने प्रदान करने का वादा किया था। आपको बता दें कि एयर इंडिया को 2018-19 में अनुमानित 8,556.35 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

निजीकरण तक सरकार करेगी रक्षा

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने पिछले महीने राज्यसभा में कहा था कि एयर इंडिया के कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जाएगी और इसके निजीकरण तक किसी की नौकरी नहीं जाएगी। निजीकरण नहीं किया जाता है तो इसे बंद करना पड़ेगा। पुरी ने पिछले सप्ताह लोकसभा में बताया था कि वित्त वर्ष 2011-12 से अब तक कंपनी को 30,520.21 करोड़ रुपये की इक्विटी दी जा चुकी है।

2018-19 के दौरान कंपनी को दिए वित्तीय पैकेज में 3,975 करोड़ रुपये की नकद सहायता भी शामिल है और एक अन्य वित्तीय मदद के तहत 2018-19 में प्रदान की जाने वाली 7,600 करोड़ रुपये की गारंटी में से तीन हजार करोड़ रुपये पहले ही उपलब्ध करवाए जा चुके हैं। अप्रैल, 2012 में केंद्र सरकार ने एयर इंडिया के पुनरुत्थान के लिए टर्नअराउंड प्लान (टीएपी) को मंजूरी दी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 2752 नये आये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 2752 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

राममंदिर के शिलान्यास के अवसर पर अपने घरों में दीपावाली मनाएं : रावत

देहरादून : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पांच अगस्त को अयोध्या में राममंदिर निर्माण हेतु भूमिपूजन के अवसर पर प्रदेश की जनता से आगे पढ़ें »

ऊपर