एयरटेल ने इस मामले में जियो को छोड़ा पीछे, आइडिया भी इस मामले में आगे

नई दिल्ली : 4जी मोबाइल कनेक्टिविटी और सबसे तेज डाउनलोड स्पीड के मामले में भारती एयरटेल सबसे आगे हैं. मोबाइल एनालिटिक्स कंपनी ओपनसिग्नल के रिपोर्ट के मुताबिक 4जी नेटवर्क मुहैया कराने के मामले में हालाँकि रिलायंस जियो ने बाजी मारी है.

वहीँ डाउनलोड स्पीड की बात करें तो एयरटेल में 8.7 एमबीपीएस की स्पीड है. वहीँ दूसरे नंबर पर है रिलायंस जियो, जिसकी डाउनलोड स्पीड 6.3एमबीपीएस है. तीसरे नंबर रहे वोडाफोन है, जिसकी डाउनलोड स्पीड है 5.9एमबीपीएस . इनके बाद आइडिया और सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल है. आइडिया की स्पीड 5.4एमबीपीएस और बीएसएनएल की सबसे कम 2.9एमबीपीएस डाउनलोड स्पीड है.

बढ़ है एयरेटल का स्कोर
रिपोर्ट में कहा गया है कि एयरटेल का स्कोर पिछले छह महीने में 8.7 एमबीपीएस हो गया है, जो कि रिलायंस जियो की तुलना में 2.3 एमबीपीएस तेज है. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के सभी पांच मुख्य ऑपरेटरों ने अपने डाउनलोड स्पीड के स्कोर में सुधार किया है.

अपलोडिंग में आइडिया आगे
अपलोड स्पीड के मामले में आइडिया सबसे आगे है. आइडिया की अपलोडिंग स्पीड 3.0एमबीपीएस है. वोडाफोन 2.6एमबीपीएस की स्पीड के साथ दूसरे स्थान पर है. एयरटेल, रिलायंस जियो और बीएसएनएल को शेष तीसरे, चौथे और पांचवे स्थान पर है. एयरटेल की अपलोडिंग स्पीड 2.2एमबीपीएस, रिलायंस जियो की 1.9एमबीपीएस और बीएसएनएल की स्पीड 0.9एमबीपीएस दर्ज की गई है.

जियो टॉप पर
जियो का 97.5 फीसदी का 4जी उपलब्धता स्कोर सर्वाधिक है. जियो की इतने कम समय में 97.5 फीसदी 4जी उपलब्धता तक पहुंचने की उपलब्धि वास्तव में आश्चर्यजनक है. लंदन स्थित मोबाइल एनालिटिक्स कंपनी ओपनसिग्नल की एक रिपोर्ट के ‘मोबाइल नेटवर्क एक्सपीरियंस’ में कहा गया है कि जियो का स्कोर एक फीसदी बढ़कर 97.5 फीसदी तक पहुंच गया, जो लगभग छह महीने पहले 96.7 फीसदी था.

शेयर करें

मुख्य समाचार

रजनीकांत की राजनीति में एंट्री

- 31 दिसंबर को करेंगे पार्टी का एलान चेन्नईः दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत ने आखिरकार नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है। पार्टी आगे पढ़ें »

यूएन में भारत बोला- करतारपुर साहिब गुरुद्वारा का प्रबंधन हस्तांतरित करना यूएनजीए प्रस्ताव का उल्लंघन

नयी दिल्ली : भारत ने पाकिस्तान द्वारा पवित्र करतारपुर साहिब गुरुद्वारे का प्रबंधन मनमाने तरीके से गैर सिख इकाई को हस्तांरित करने का विरोध करते आगे पढ़ें »

ऊपर