एमजी मोटर्स ने डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट के तहत 6 स्टार्ट-अप्स के साथ किया करार

नई दिल्ली : एमजी (मॉरिस गैराज) मोटर इंडिया ने मौजूदा एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट के लिए 6 और स्टार्ट-अप्स के साथ करार किया है। छह फाइनलिस्ट में हाईवे डिलाइट, सोशलकोर, इनकैबएक्स, कैमकॉम, क्लियरक्वोट और एलेक्सा-आधारित प्रोजेक्ट मीसीक्स शामिल हैं। इन स्टार्ट-अप्स को टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स से ग्रांट और मेंटरिंग मिलेगी और चयनित प्रोजेक्ट्स पर विशेष एमजी टीमों के साथ सीधे काम करने का अवसर मिल सकता है।

स्टार्ट-अप कम्युनिटी में इनोवेशन को प्रोत्साहित करने पर अपना फोकस रखते हुए एमजी मोटर इंडिया ने भारत के ऑटोमोबाइल स्पेस में इनोवेशन को आगे बढ़ाने के लिए 2017 से अब तक पहले ही 60 से अधिक स्टार्ट-अप को सपोर्ट किया है। इस तरह के स्टार्ट-अप इंजन एंड एमिशन, टेक्नोलॉजी, कार में चाइल्ड सेफ्टी, नेविगेशन, कनेक्टिविटी और इलेक्ट्रिक वाहनों के इकोसिस्टम के साथ दूसरे क्षेत्र में काम कर रहे हैं। कार्यक्रम का समग्र उद्देश्य एक विशेष अनुदान का निर्माण कर स्थानीय स्टार्ट-अप कम्युनिटी का समर्थन करना है। ब्रांड स्वदेशी रूप से इनोवेशन को बढ़ावा देने का इरादा रखता है और भारत में स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के विकास में योगदान देता है, जिससे समाज में समग्र योगदान होता है।

एडोबी, कॉग्निजंट, एसएपी, एयरटेल, टॉमटॉम, अनलिमिट और अन्य कई तकनीकी दिग्गजों के साथ साझेदारी में लॉन्च किए गए इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारतीय शहरी मोबिलिटी स्पेस में जमीनी स्तर पर सॉल्युशंस को बढ़ावा देना है। एमजी मोटर इंडिया के अध्यक्ष और एमडी राजीव चाबा ने कहा कि एमजी इनोवेशन पर आगे बढ़ता है और इसने भारतीय स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के साथ संबंध विकसित किया है। हमारा लक्ष्य स्वदेशी रूप से देश में शहरी मोबिलिटी के लिए व्यापक, टिकाऊ और स्मार्ट इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करना है। एमजी डेवलपर प्रोग्राम को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। हम उन सभी टीमों का स्वागत करते हैं, जिन्हें इस पहल में साइन किया गया है। हम उनकी मेंटरिंग और उनके साथ मिलकर काम करने को तत्पर हैं। एमजी इन स्टार्ट-अप के साथ सिनर्जी का भी पता लगाएगा और अपने आगामी वाहनों में अपने सॉल्युशंस में भी उन्हें ला सकता है।

300 से अधिक आवेदन में से 60 टीमों को पहले दौर में चुना गया। इन टीमों को एमजी इंडिया के नेतृत्व के साथ-साथ इसके टेक्नोलॉजी इकोसिस्टम भागीदारों सहित 25 उद्योग विशेषज्ञों ने मेंटरशिप प्रदान की है। इससे ऑटोमोटिव सेगमेंट में सबसे बड़े मेंटरिंग कार्यक्रमों में से एक बना। चयनित उम्मीदवारों में से हाईवे डिलाइट भारत का पहला फ्री ट्रैवल ऐप है, जो हाईवे यात्रा और सड़क यात्रा, दोनों को सुरक्षित और मजेदार बनाता है। मीसीक्स एलेक्सा , एमजी के वॉयस असिस्टेंट का इस्तेमाल डिजिटल मैनेजमेंट और कस्टमर सर्विस अनुभव को बेहतर बनाने के लिए करता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ी खबर : नेपाल ने बैन किए भारतीय न्यूज चैनल

नई दिल्ली/काठमांडु : चीन की शह पर भारत से दुश्मनी पाल रहे नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के इशारे पर नेपाल ने बड़ा कदम उठाते आगे पढ़ें »

बिकरू कांड : गैंगस्टर विकास दुबे यूपी एसटीएफ के हवाले

उधुर, उज्जैन पुलिस ने दावा किया - विकास दुबे को हमने गिरफ्तार किया उज्जैन/लखनऊ : कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिसवालों की जान लेने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर