एमएसएमई को 20 हजार करोड़ रुपये का राहत पैकेज देगी सरकार

नई दिल्ली : लॉकडाउन के कारण सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के नुकसान को देखते हुए केंद्र सरकार ने 20 हजार करोड़ रुपये का राहत पैकेज देने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के मुताबिक 10-10 हजार करोड़ रुपये के इस पैकेज को दो हिस्सों में दिया जायेगा – डिस्ट्रेस एसेट फंड और फंड ऑफ फंड्स।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता वाली वित्त व्यय समिति (इएफसी) ने इस योजना को मंजूरी दे दी है। इस प्रस्ताव को अगली कैबिनेट बैठक में मंजूरी मिलने की उम्मीद है। बहुत से एमएसएमई ऐसे हैं, जो काफी मुश्किलों से जूझ रहे हैं, उन्हें आगे बढ़ाया जा सकता है। इस फंड का उद्देश्य ऐसे ही उद्यमों को राहत देने का है।

इस प्रस्ताव में कहा गया है कि यदि फंड का 10 फीसदी हिस्सा भी सीड मनी के रूप में निवेश किया जाता तो बैंक आगे इन एमएसएमई की मदद कर सकते हैं। अभी बैंक भी इन्हें पूंजी मुहैया कराने में डर रहे हैं। वहीं दूसरे प्रस्ताव के मुताबिक ऐसी सुविधा का इस्तेमाल बढ़ाया जाएगा जो पहले से उपलब्ध है। यह दूसरा फंड उन उद्यमों के लिए होगा, जिनके पास गुणवत्ता और मात्रा के लिहाज से उत्पादन बढ़ाने की क्षमता है।

वहीं जानकारों का कहना है कि भारतीय एमएसएमई को अगले स्तर पर जाने का खास मौका है, क्योंकि चीन की मैन्युफैक्चरिंग पर दुनिया भर में सवाल खड़े हो रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पेट दर्द में कब आती है अस्पताल जाने की नौबत ? बड़ी खतरनाक ये 8 बीमारियां

कोलकाता : पेट दर्द तेज होने पर डॉक्टर के पास जाएं या न जाएं, कई बार ये तय करना बड़ा मुश्किल हो जाता है। इमरजेंसी आगे पढ़ें »

8 को वाममोर्चा कर सकता है उम्मीदवारों की घोषणा

वाम-कांग्रेस-आईएसएफ के बीच जटिलता लगभग समाप्त कोलकाता : काफी जटिलता के बाद वाम-कांग्रेस-आईएसएफ के बीच चुनावी समझौता अब अपने अंतिम दौर में है। कांग्रेस और आईएसएफ आगे पढ़ें »

ऊपर