एबॅट भारत में एक मिलियन से अधिक आईजीजी एंटीबॉडी टेस्ट की आपूर्ति करेगा

नई दिल्ली : एबॅट ने आज घोषणा की कि उसने एंटीबॉडी आईजीजी (इम्युनोग्लोबुलिन जी) का पता लगाने के लिए अपने प्रयोगशाला-आधारित सीरोलॉजी ब्लूड टेस्ट9 की आपूर्ति शुरू कर दी है। इससे कोरोनावायरस संक्रमण का पता लगेगा। गौरतलब है कि एबॅट में भारत को लाखों टेस्ट् प्रदान करने की क्षमता है और यह पहले से ही महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और गुजरात के प्रमुख सरकारी और निजी अस्पतालों और प्रयोगशालाओं में एंटीबॉडी टेस्ट का वितरण करने की प्रक्रिया में है।

भारत में एबॅट के डायग्नोस्टिक्स बिजनेस के जनरल मैनेजर और कंट्री हेड नरेंद्र वरडे ने कहा कि एबॅट ने हाल ही में लॉन्च किए गए सार्स-कोवी-2 एलजीजी टेस्ट का उपयोग उच्च जोखिम वाले आबादी जैसे स्वास्थ्य सेवा कर्मचारियों, कमजोर इम्युनिटी वाले लोग, अग्रिम पंक्ति में कार्य करने वाले लोगों या संक्रमित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में संक्रमण के प्रसार को समझने में किया जा सकता है।  कोलकाता के अपोलो ग्लेनईगल्स हॉस्पिटल्स की कंसल्टेंट माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉ. उज्ज्वयिनी रे, एमडी (एम्स) के मुताबिक जिन मरीजों को चिकित्सकीय रूप से ठीक किया गया है या जो रिकवरी की राह पर हैं, उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ आईजीजी एंटीबॉडी के महत्वपूर्ण स्तर विकसित किए हैं।

एबॅट का आईजीजी टेस्ट खासकर आईजीजी एंटीबॉडी की पहचान करता है। यह एक प्रोटीन है जो शरीर में संक्रमण होने के बाद की स्थितियों में उत्पन्न होता है। यह व्यक्ति के संक्रमण से रिकवर हो जाने के बाद महीनों और शायद वर्षों तक शरीर में बना रह सकता है। एबॅट ने खासकर आईजीजी एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए अपने टेस्ट7 को डिजाइन किया है। यह एंटीबॉडीज के संयोजन को देखने के बजाय संक्रमण से रिकवरी निर्धारित करने में डॉक्टरों की ज्यादा बेहतर ढंग से मदद कर सकता है। एबॅट एक आईजीएम एंटीबॉडी टेस्ट भी विकसित कर रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रिगेड की सभा में शामिल होंगे अब्बास सिद्दीकी

कोलकाताः इंडियन सेक्युलर फ्रंट इस बार किसी पार्टी के लिए सत्ता बना सकती है और किसी की बिगाड़ भी सकती है। माकपा के साथ बातचीत आगे पढ़ें »

घुसुड़ी में दिन दहाड़े युवक को मारी गयी गोली, मौत

साल 2012 में युवक के पिता विजय महतो की भी हत्या हुई थीआपसी विवाद बताया जा रहा है मुख्य कारणहावड़ा : शीतना मां के स्नान आगे पढ़ें »

ऊपर