एनर्जी की बढ़ती मांग को पूरा करना एक चुनौती है: ऊर्जा सचिव

नई दिल्ली : इमारतों, वाहनों और कोल्ड चेन सेक्टर में एनर्जी की बढ़ती मांग को पूरा करना एक चुनौती है। नए टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए इस क्षेत्र में प्रभावी नीतियां और योजनाएं बनाने की जरूरत है। एनर्जी एफिशिएंट कूलिंग को बढ़ावा देने की दिशा में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी पहल कर रहा है और साथ ही कोल्ड चेन जैसे नए क्षेत्रों में नीतिगत ढांचा विकसित करने के लिए इसने कई अध्ययन किए हैं । ये बाते भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के सचिव संजीव सहाय ने एनर्जी एफिशिएंट कूलिंग विषय पर एक इंटरनेशनल वर्कशॉप के आयोजन के मौके पर नई दिल्ली के कन्वेंशन सेंटर में कही।

विभिन्न क्षेत्रों और प्रतिष्ठानों में एनर्जी एफिशिएंट टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल में तेजी लाने के अवसरों का पता लगाने के लिए वैश्विक विशेषज्ञों, उद्योगों और नीति निर्माताओं के लिए इस वर्कशॉप ने एक मंच के रूप में कार्य किया। इस वर्ष ‘एनर्जी कंजर्वेशन वीक’ 9 से 14 दिसंबर 2019 तक मनाया गया। वर्कशॉप का उद्देश्य कुशल कूलिंग उपकरण और प्रणालियों के विकास और तैनाती में तेजी लाने की दिशा में कदम उठाना था। इस कार्यशाला ने कोल्ड चेन सेक्टर में नीतियों, नए प्रौद्योगिकियों, इस क्षेत्र मे उठाये गए नए पहल और व्यापार मॉडल का पता लगाने में मदद की। इस कार्यक्रम में कार्य योजनाओं, अंतर्राष्ट्रीय सर्वोत्तम नीति पद्धतियों, नवाचार को प्रोत्साहित करने के उपायों और आगे के कदमों पर विचार-विमर्श किया गया। इस वर्कशॉप के जरिए दुनिया भर की प्रौद्योगिकियों को अपनाने के लिए सर्वोत्तम नीतियां को तैयार करने और उद्योगों को इन टेक्नोलॉजी के उपयोग करने में मदद मिलेगी।

वर्कशॉप में दुनिया भर के नियामक निकायों, नीति निर्माताओं, सरकारी अधिकारियों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों आदि से जुड़े विभिन्न प्रतिनिधियों ने भाग लिया। साथ ही कूलिंग सेक्टर को एनर्जी एफिशिएंट बनाने से संबंधित विभिन्न सत्रों में अनेको अंतरराष्ट्रीय निकायों के अधिकारियों और विशेषज्ञों ने भाग लिया। इस वर्कशॉप के दौरान जो चर्चाएं हुई वो बहुत उपयोगी साबित हुई और इस कार्यशाला ने कूलिंग सेक्टर को ऊर्जा-कुशल बनाने के लिए हितधारकों के लिए नई तकनीकों और नीतिगत ढाँचों को अपनाने को लेकर एक मंच के रूप में कार्य किया। दो दिवसीय कार्यक्रम में कूलिंग सेक्टर को एनर्जी एफिशिएंट बनाने के लिए नई और अभिनव प्रौद्योगिकियों को प्रदर्शित करने वाली प्रदर्शनी भी रखी गई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

china

चीन से आनेवाले यात्रियों की इन हवाई अड्डों पर थर्मल स्कैनर से होगी जांच, यह है वजह

नई दिल्‍ली : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन से आने वाले यात्रियों की दिल्ली, मुंबई और कोलकाता हवाई अड्डों पर थर्मल स्कैनर द्वारा जांच का आगे पढ़ें »

terrorist

श्रीनगर में गिरफ्तार हुए जैश के 5 आतंकी, 26 जनवरी को करने वाले थे आत्मघाती हमला

श्रीनगर : गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमले की साजिश रचने वाले जैश-ए-मोहम्मद के 5 आतंकियों को जम्मू कश्मीर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आगे पढ़ें »

ऊपर