एनपीए का स्तर घटने से भारतीय स्टेट बैंक को 838 करोड़ रुपये का मुनाफा

नयी दिल्ली : वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 838.40 करोड़ रुपये का एकल शुद्ध लाभ दर्ज किया है। एसबीआई ने शुक्रवार को बताया कि यह मुनाफा गैर- निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) का स्तर नीचे आने से हुआ है। मालूम हो कि वित्त वर्ष 2017-18 की जनवरी-मार्च तिमाही में एसबीआई को 7,718.17 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।
बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ 3,069.07 करोड़ रुपये रहा
बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि इस बार मार्च तिमाही में उसकी एकल आय करीब 11 प्रतिशत बढ़कर 75,670.50 करोड़ रुपये रही। एक साल पहले की इसी अवधि में एकल आय 68,436.06 करोड़ रुपये थी। यह भी बताया गया है कि पूरे वित्त वर्ष (अप्रैल-मार्च) 2018-19 में बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ 3,069.07 करोड़ रुपये रहा जबकि 2017-18 में उसे 4,187.41 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। इस दौरान, एसबीआई की सभी कंपनियों से एकीकृत आय 3.30 लाख करोड़ रुपये रही, जो 2017-18 में 3.01 लाख करोड़ रुपये थी।

मालूम हो कि आलोच्य अवधि में एसबीआई के ऋणों की गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया। मार्च 2019 के अंत तक बैंक की सकल एनपीए घट कर सकल कर्ज के 7.53 प्रतिशत के बराबर थी। वहीं मार्च 2018 के अंत में एसबीआई की सकल एनपीए 10.91 प्रतिशत थी। इस दौरान शुद्ध एनपीए का स्तर भी घट कर 3.01 प्रतिशत रह गया। एक साल पहले यह 5.73 प्रतिशत था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bengal

मालदा में पुल ढहने को लेकर भाजपा और तृणमूल ने एक-दूसरे पर साधा निशाना

मालदा : पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा ढहने की घटना को लेकर सोमवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी आगे पढ़ें »

shivsena

शिवसेना का तंज, ट्रंप के स्वागत के लिए मोदी ने शुरू की ‘गरीबी छुपाओ’ योजना

मुंबई : शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दो‌ दिवसीय भारत दौरे की तैयारियों की तुलना गुलाम हिंदुस्तान आगे पढ़ें »

ऊपर