एनएसई में 1.2 करोड़ नए निवेशकों ने कराया पंजीकरण

नई दिल्ली : एनएसई में पांच सालों 1.2 करोड़ नए निवेशकों ने पंजीकरण किया हैं, जिससे एनएसई का सालाना चक्रवृद्धि दर 11 प्रतिशत तक पहुँची हैं। केवल वर्ष 2019 में ही एनएसई के 30 से भी ज्यादा निवेशक दर्ज हुए हैं, जो की पिछले वर्ष की तुलना में 4.5 प्रतिशत ज्यादा हैं।

एनएसई के प्रबंधक संचालक तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी विक्रम लिमये ने कहा कि जनवरी 2020 में राष्ट्रीय शेयर बाजार ने तीन करोड़ निवेशकों का पंजीकरण हुआ है। बड़ी मात्रा में निवेशक इक्विटी मार्केट में शामिल होने में रूचि दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सेबी द्वारा, निवेशकों के पंजीकरण के लिए सूचित प्रक्रिया को और सरल करने के साथ ही एनएसई और ट्रेडिंग मेंबर्स द्वारा किए गए लगातार प्रयासों से ही यह संख्या बढ़ने में मदद मिली हैं।

रेलवे स्टेशनों पर अब मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा, यात्रा होगी महंगी

देश की अर्थव्यवस्था के लिए यह अच्छी खबर है, घरेलू बचत का निवेश आज शेयर बाजार में ही हो रहा हैं, जिससे देश के पूंजी में बढोतरी हो रही है। अगले 3 सालों में निवेशकों की संख्या 5 करोड़ तक बढ़ाने का लक्ष्य हम जरूर हासिल करेंगे।  निवेशकों के पंजीकरण में हुई वृद्धि ज्यादातर गैर-मेट्रो शहरों से हुई हैं। देश के टॉप 100 शहरों में से आये नए निवेशक 33.7 प्रतिशत हैं, जबकि पहले 50 टॉप शहरों से आए निवेशकों की संख्या 48 प्रतिशत हैं। इक्विटी मार्केट का दायरा अब केवल महानगरों तक सीमित नहीं हैं। एनएसई ने पिछले तीन सालों में निवेश पर 10 हजार से भी ज्यादा जन जागरण कैंप अधिकतर छोटे शहरों में किए, जिसमें 5.25 लाख से भी ज्यादा निवेशकों से संपर्क किया।

पश्चिमी भारत से सबसे ज्यादा 33 प्रतिशत निवेशक पंजीकृत हुए और उसके बाद 32 प्रतिशत उत्तर भारत से। दक्षिण भारत से 25 तथा पूर्व भारत से 10 प्रतिशत निवेशकों ने पंजीकरण किया हैं। नए निवेशकों में दस राज्य महाराष्ट्र 18.3 प्रतिशत, गुजरात 9.9%, उत्तरप्रदेश 7.7%, दिल्ली 7.3%, तमिलनाडू 6.6%, कर्नाटक 6.2%,राजस्थान 5.3%, पश्चिम बंगाल 4.9%, तेलंगाना 4.8% और आंध्र प्रदेश 4.7%. के निवेशक हैं।

पैनासोनिक ने लॉन्च किया एआई आधारित मीराई, कनेक्टेड होंगे घर के सारे इलेक्ट्रिक डिवाइस

निवेशक पंजीकरण में पहले दस शहरों की सूचि में मुम्बई से (ठाणे और रायगड मिलाकर) सबसे ज्यादा 29.5% पंजीकरण हुआ हैं। उसके बार दिल्ली (एनसीआर के साथ) 7.4%,बंगलुरु 2.7%,, पुणे 2.6%,, अहमदाबाद 2.3%,सूरत1.7%, हैदराबाद 1.5%, जयपुर 1.4%, ,रंगारेड्डी 1.2% और कोलकाता से 1.0%. तक पंजीकरण हुआ हैं।  एनएसई के उत्पादों में इक्विटी, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड, म्यूचुअल फंड और इक्विटी डेरिवेटिव,निश्चित आय देनेवाले उत्पाद जैसे कॉर्पोरेट बौंड्स, सरकारी सिक्युरिटीज और ऋण एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स वगैराह शामिल हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

जार्ज फ्लायड की मौत पर आईसीसी ने कहा, विविधता के बिना क्रिकेट कुछ नहीं

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को कहा कि ‘क्रिकेट विविधता के बिना कुछ भी नहीं है।’ उसने यह बयान अफ्रीकी मूल के आगे पढ़ें »

टेस्ट मैच में लागू होगा कोरोना सब्स्टीट्यूट, जल्द मिलेगी आईसीसी की मंजूरी

विश्व पर्यावरण दिवस विशेष : तीन दशक से पर्यावरण-जंगल की रक्षा कर रहे रामगढ़ के वीरू महतो

स्थिति ठीक होने पर ही टूर्नामेंट्स हो, आज यूएस ओपन होता है तो मैं नहीं खेलूंगा : नडाल

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

ऊपर