एचडीएफसी बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में किया बदलाव, जानिए क्या है नई ब्याज दरें

नई दिल्ली: निजी क्षेत्र की बैंक एचडीएफसी बैंक ने दो करोड़ रुपये की राशि से नीचे की फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी ) राशि पर ब्याज की दर में बदलाव किया है।  नई ब्याज दरें 22 जुलाई, 2019 से लागू हो गई हैं। आपको बता दें कि एचडीएफसी निजी क्षेत्र में लोन देने वाला देश का सबसे बड़ा संस्थान है, जो अपने कस्टमर को सात दिन से लेकर 10 साल तक की अवधि वाले अलग-अलग एफडी जमा पर 3. 50 प्रतिशत से लेकर 7. 30 प्रतिशत तक सालाना ब्याज दे रहा है।

वहीं बैंक सात दिनों से लेकर 29 दिनों में मेच्योर होने वाली एफडी पर ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है, यह दर 4. 25 प्रतिशत पर कायम है। बैंक के अधिकारियों के मुताबिक एचडीएफसी बैंक ने 30 दिनों से लेकर छह महीने, छह महीने से लेकर एक साल तक में मेच्योर होने वाली एफडी पर ब्याज में बदलाव किया है। इसके अलावा लॉन्ग टर्म टैक्स सेविंग एफडी पर मिलने वाले ब्याज दर में भी बदलाव किया है।

बदलाव के बाद एचडीएफसी बैंक 30 से लेकर 45 दिनों की एफडी पर सामान्य नागरिक को 5. 50 प्रतिशत और वरिष्ठ नागरिकों को 6. 00 प्रतिशत ब्याज ऑफर कर रहा है। पहले यह दरें क्रमश: 5. 75 प्रतिशत और 6.25 प्रतिशत थीं। इसी तरह 46 दिन से लेकर 6 महीने की एफडी जमा पर ब्याज को 6. 25 प्रतिशत से घटाकर 6. 00 प्रतिशत कर दिया है।

एक साल की अवधि वाले एफडी पर ब्याज दर में 0. 20 प्रतिशत की कटौती कर दी गई है जो कि अब यह 7. 10 प्रतिशत हो गया है। सीनियर सिटिजन को हमेशा 0. 50 प्रतिशत अधिक ब्याज मिलता है। एक साल से दो साल तक की एफडी पर भी ब्याज दर में कटौती ही की गई है, जो अब 7. 30 से घटकर 7.20 प्रतिशत रह गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर