ईपीसीएच द्वारा आयोजित मेले में  81 देशों के 1200 प्रतिनिधियों ने लिया हिस्सा, 150 करोड़ की खरीद के लिए आई पूछताछ 

नई दिल्ली : इंडियन फैशन ज्वैलरी एंड एसेसरीज (ईपीसीएच) द्वारा आयोजित पहले वर्चुअल मेले में 81 देशों के 1200 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा 500  से ज्यादा बाइंग एजेंट्स, थोक विक्रेता और रिटेलर्स भी इस आयोजन में शामिल हुए।हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) के चेयरमैन रवि के पासी ने बताया कि मेले की सफलता इसी बात से लगाया जा सकता है कि ग्राहकों द्वारा करीब 150 करोड के मूल्य की खऱीद के जुड़ी पड़ताल काफी संजीदगी से की गयी है। ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार ने कहा कि इस आयोजन में फैशन ज्वैलरी और एसेसरीज से जुड़े देश के 200 से ज्यादा निर्यातक सदस्यों ने हिस्सा लिया। पूरे देश हिस्सा लेने वाले इन सदस्य निर्यातकों ने एक बार फिर इस संकट के समय में निर्यातकों को ईपीसीएच द्वारा वैकल्पिक मार्केटिंग प्लेटफार्म देने की क्षमता पर अपना विश्वास जताया है।

इस आयोजन में प्रतिभागियों ने फैशन ज्वैलरी, सेमी प्रेशियस स्टोन, स्टोल, स्कार्फ, शाल, हैंडबेग, क्लच, बेल्ट, वॉलेट, टाई, बीड्स, नग, क्रिस्टल, हेयर एसेसरीज, फैंसी फैशन जूते-चप्पल, टैटू और बिंदी जैसे उत्पादों का प्रदर्शन किया।  शो में मॉडल्स ने मीर हैंडीक्राफ्ट्स, बीड्स किंगडम, अहूजा इंटरनेशनल्स, क्यू.टी.एल एक्सपोर्ट्स, सरदार एक्सपोर्ट, महाराणा ऑफ इंडिया, जी.के एक्सपोर्ट्स और बाइंग एजेंट्स एसोशिएशन ऑफ इंडिया की फैशन ज्वैलरी और एसेसरीज का प्रदर्शन किया।  ईपीसीएच चेयरमैन रवि के पास ने कहा कि भारत के पास कच्चे माल, फैशन ज्वैलरी और एसेसरीज की कोई कमी नहीं है। वैश्विक बाजार को देने के लिए हमारे पास बहुत कुछ है। भारतीय फैशन ज्वैलरी के दाम प्रतिस्पर्धी हैं,डिजाइन बहुत ही अनोखे हैं और ये हमारी संस्कृति और रीति रिवाजों की विशेषता से भरे हुए हैं। बावजूद इसके अभी हमें चीन, थाईलैंड, इंडोनेशिया और दूसरे देशों के निर्यातकों से प्रतिस्पर्धा में आगे निकलने के लिए उत्पादों के फिनिश, प्रेजेंटेशन और बारीकियों पर बहुत ज्यादा ध्यान देना होगा।

ईपीसीएच के महानिदेशक कुमार ने बताया कि वर्चुअल मोड पर हुआ ये पहला आयोजन प्रतिभागियों, ग्राहकों और आयोजकों समेत सभी के लिए बहुत सी सीख लेकर आया है। उन्होंने विश्वास जताया कि ये सीख भविष्य में होने वाले आयोजनों जैसे 15 से 18 जून तक होने वाले आईएचजीएफ टेक्सटाइल और  13 से 18 जुलाई, 2020 तक होने वाले 49 वें आईएचजीएफ दिल्ली मेले- वर्चुअल 2020 में बहुत काम आने वाली है। इसके साथ ही अभी के ये अनुभव बहुत से अन्य निर्यातकों को वर्चुअल प्लेटफार्म और आयोजनों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करेगें, जिनसे भविष्य के आयोजन ज्यादा सफल और भव्य हो सकेंगे। ये उम्मीद जताई जा रही है कि इंडियन फैशन ज्वैलरी एंड एसेसरीज के इस पहले वर्चुअल मेले के सफल आयोजन से अब ईपीसीएच के सदस्य निर्यातक बड़ी संख्या में इस वर्ष जून मध्य और जुलाई के दूसरे हफ्ते में होने वाले इन आयोजन में भाग लेगें।

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर