इस क्षेत्र में चीन से आगे निकला भारत

नई दिल्ली : भारत स्टील सेक्टर में तेजी से तरक्की कर रहा है। केंद्र सरकार ने इस क्षेत्र को खास तौर पर प्रोत्साहित किया है। चीन दुनिया में स्टील का सबसे बड़ा उत्पादक है। चीन का क्रूड स्टील का उत्पादन 2018 में 92. 83 करोड़ टन था, जबकि भारत 10. 65 करोड़ टन उत्पादन कर दुनिया में दूसरे स्थान पर है।

राष्ट्रीय इस्पात नीति 2017 में स्टील उद्योग को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए। वर्ष 2030-31 में देश में स्टील का उत्पादन बढ़ाकर 30 करोड़ टन करने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए हितधारकों को विचार-विमर्श में शामिल करना आवश्यक है, ताकि भारत के स्टील उद्योग को आकर्षक, सक्षम और दुनिया में प्रतिस्पर्धी बनाने की दिशा में मंत्रालय द्वारा एक रोडमैप तैयार किया जा सके।

स्टील की खपत के मामले में चीन और अमेरिका के बाद भारत तीसरे स्थान पर है, लेकिन फ़िलहाल भारत में प्रति व्यक्ति स्टील की खपत 75 किलोग्राम है, जबकि वैश्विक औसत 225 किलोग्राम प्रति व्यक्ति है। चिंतन शिविर में स्टील का उत्पादन बढ़ाने के साथ-साथ खपत बढ़ाने सहित स्टील सेक्टर के सामने आर रही चुनौतियों पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

गौरतलब है कि स्टील सेक्टर में दुनियाभर में भारत का दबदबा कायम करने के उद्देश्य से मोदी सरकार स्टील क्षेत्र को रिवाइवल पैकेज दे सकती है। चीन दुनिया में स्टील का सबसे बड़ा उत्पादक है, जिसका क्रूड स्टील का उत्पादन 2018 में 92. 83 करोड़ टन था, जबकि भारत इस सूची में 10. 65 करोड़ टन उत्पादन के साथ दुनिया में दूसरे स्थान पर है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिल्ली के दो स्टेडियम में ट्रेनिंग शुरू, 50 प्रतिशत खिलाड़ियों को ही अनुमति

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) ने खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली में दो स्टेडियमों को खोल दिया है। जवाहरलाल नेहरू और आगे पढ़ें »

टाइगर वुड्स ने गोल्फ खेलकर एक दिन में 152 करोड़ जुटाए

न्‍यूयार्क : कोरोनावायरस से जंग लड़ने के लिए एक चैरिटी गोल्फ टूर्नामेंट किया गया। इसमें अमेरिका के टाइगर वुड्स, पेटन मैनिंग की जोड़ी भी शामिल आगे पढ़ें »

ऊपर