सितंबर में भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक रहा

Fallback Image

नयी दिल्लीः सितंबर माह में भारत में कच्चे इस्पात का उत्पादन एक साल पहले की तुलना में 2.1 प्रतिशत बढ़कर 85.20 लाख टन रहा। साथ ही चीन के बाद भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक रहा। पिछले साल के इसी महीने में 83.45 लाख टन कच्चे इस्पात का उत्पादन हुआ था। जनवरी- सितंबर 2018 की अवधि में कच्चे इस्पात का उत्पादन वर्ल्डस्टील की ताजा रपट के अनुसार 796.60 लाख टन रहा। यह पिछले साल की समान अवधि के 750.48 लाख टन उत्पादन से 6.1 प्रतिशत अधिक है। वैश्विक स्तर पर 64 देशों का सम्मिलित कच्चा इस्पात उत्पादन सितंबर में 4.40 प्रतिशत बढ़कर 1517 लाख टन रहा।
चीन का उत्पादन

चीन का कच्चा इस्पात उत्पादन सितंबर में 7.5 प्रतिशत बढ़कर 808.45 लाख टन और जनवरी से सितंबर की अवधि में 6.1 प्रतिशत बढ़कर 6994.24 लाख टन रहा।

जापान का उत्पादन

आलोच्य माह में जापान में कच्चे इस्पात का उत्पादन पिछले साल के 86.26 लाख टन से 2.4 प्रतिशत कम होकर 84.18 लाख टन पर आ गया। इस साल के पहले नौ महीने के दौरान जापान के कच्चा इस्पात उत्पादन में मामूली 0.4 प्रतिशत की तेजी आयी और यह 786.15 लाख टन पर पहुंच गया।

अन्य देशों का उत्पादन

आलोच्य महीने के दौरान अमेरिका का कच्चा इस्पात उत्पादन नौ प्रतिशत बढ़कर 73 लाख टन रहा। इस दौरान फ्रांस ने 13 लाख टन, इटली ने 22 लाख टन, स्पेन ने 13 लाख टन और तुर्की ने 28 लाख टन कच्चा इस्पात उत्पादन किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नीम का तेल है बहुत उपयोगी, इन समस्याओं में है कारगर

नई दिल्ली : नीम एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है, जिसके कारण यह कई स्वास्थ समस्याओं के लिए अचूक दवा मानी जाती है। सर्दियों आगे पढ़ें »

International Film Festival of India

भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का जल्द होगा आगाज,यह वर्ष है कुछ खास

नई दिल्ली : गोवा में आयोजित होने वाले भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) का समय आ गया है। इस वर्ष का महोत्सव कुछ खास है आगे पढ़ें »

ऊपर