इंडियन आयल की ऊर्जा क्षेत्रों में दो लाख करोड़ रुपये निवेश की योजना

नयी दिल्लीः फॉर्च्यून की वैश्विक-500 सूची में शीर्ष रैकिंग वाली इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) की भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुये अगले 5 से 7 साल के दौरान ईंधन और ऊर्जा के विविध क्षेत्रों में दो लाख करोड़ रुपये निवेश की योजना है। पेट्रोलियम उत्पादों का कारोबार करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की अग्रणी कंपनी आईओसी अपनी मौजूदा रिफाइनरियों का विस्तार करने के साथ ही स्वच्छ ईंधन और उत्पादन बढ़ाने में नई प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा दे रही है। रिफाइनरी-पेट्रोरसायन एकीकृत परिसरों, जैव-ईंधन, कोल गैसिफिकेशन, हाइड्रोजन ईंधन सेल और बैटरी प्रौद्योगिकी जैसे नये क्षेत्रों में अपनी अनुसंधान एवं विकास विशेषज्ञता के बल पर आगे बढ़ रही है।

25 हजार करोड़ रुपये का निवेश

इंडियन आयल कॉरपोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी रिफाइनरी, पाइपलाइन, पेट्रोरसायन और ऊर्जा के विभिन्न क्षेत्रों में 25 हजार करोड़ रुपये का पूंजी निवेश करेगी। कंपनी ने 2018-19 में भी तय लक्ष्य के मुकाबले 116 प्रतिशत निवेश करते हुये 26,548 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश किया है।

वर्ष 2030 तक रिफाइनिंग क्षमता को करेगी दोगुना

सिंह ने कहा कि निकट भविष्य में देश में पेट्रोलियम, तेल और लुब्रिकेंट्स उत्पादों की बढ़ती मांग को देखते हुये इंडियन आयल वर्ष 2030 तक अपनी मौजूदा रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना कर 14 करोड़ टन तक पहुंचाने के एजेंडा पर काम कर रही है। इसके साथ ही पाइपलाइन नेटवर्क और विपणन ढांचे को भी मजबूत बनाया जायेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

amit shah

अमित शाह बोले- शिवसेना ने फड़णवीस के नाम पर मांगे वोट

मुंबई : गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक हलचल को लेकर शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा है कि आगे पढ़ें »

tejas

स्वदेशी फाइटर जेट तेजस ने पहली बार रात में अरेस्टेड लैंडिंग की, परीक्षण सफल

नई दिल्ली : स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस ने रात में अरेस्टेड लैंडिंग का परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आगे पढ़ें »

ऊपर