आरबीआई ने वोडाफोन एम –पेसा का सर्टिफिकेट ऑफ अथॉराइजेशन किया रद्द

rbi

नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक ने वोडाफोन एम –पेसा का सर्टिफिकेट ऑफ अथॉराइजेशन रद कर दिया है। आरबीआई ने कहा है कि कंपनी ने स्वे च्छाल से अथॉराइजेशन सरेंडर किया है।

वोडाफोन अब अपने एम- पेसा कारोबार को जारी नहीं रख सकती।आरबीआई ने कहा है कि कंपनी के इस प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रू मेंट का परिचालन बंद हो जाएगा। हालांकि, ग्राहक और मर्चेंट पेमेंट सिस्टीम ऑपरेटर (पीओएस) के तौर पर दावा कर सकते हैं। पीओएस अपने दावे के निपटान के लिए अथॉराइजेशन रद होने की तारीख से तीन साल के भीतर यानी 30 सितंबर 2022 तक वोडाफोन से अपने दावों के निपटान के लिए कह सकते हैं।

एफएमसीजी सेक्टर में सामानों के दामों में इस साल नहीं आएगा बदलाव

केंद्रीय बैंक ने कहा कि वोडाफोन एम -पैसा भुगतान प्रणाली ऑपरेटर (पीओएस) ने स्वेच्छा से प्राधिकरण के सामने समर्पण कर दिया था और पिछले साल वोडाफोन आइडिया ने आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के बंद होने के बाद एम- पेसा वर्टिकल को बंद करने का फैसला किया था, जिसके साथ इसका विलय किया जा रहा था। आरबीई ने वोडाफोन एम – पेसा समेत 11 फर्मों को भुगतान बैंक लाइसेंस दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

जार्ज फ्लायड की मौत पर आईसीसी ने कहा, विविधता के बिना क्रिकेट कुछ नहीं

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को कहा कि ‘क्रिकेट विविधता के बिना कुछ भी नहीं है।’ उसने यह बयान अफ्रीकी मूल के आगे पढ़ें »

टेस्ट मैच में लागू होगा कोरोना सब्स्टीट्यूट, जल्द मिलेगी आईसीसी की मंजूरी

विश्व पर्यावरण दिवस विशेष : तीन दशक से पर्यावरण-जंगल की रक्षा कर रहे रामगढ़ के वीरू महतो

स्थिति ठीक होने पर ही टूर्नामेंट्स हो, आज यूएस ओपन होता है तो मैं नहीं खेलूंगा : नडाल

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

ऊपर