आरबीआई ने वोडाफोन एम –पेसा का सर्टिफिकेट ऑफ अथॉराइजेशन किया रद्द

rbi

नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक ने वोडाफोन एम –पेसा का सर्टिफिकेट ऑफ अथॉराइजेशन रद कर दिया है। आरबीआई ने कहा है कि कंपनी ने स्वे च्छाल से अथॉराइजेशन सरेंडर किया है।

वोडाफोन अब अपने एम- पेसा कारोबार को जारी नहीं रख सकती।आरबीआई ने कहा है कि कंपनी के इस प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रू मेंट का परिचालन बंद हो जाएगा। हालांकि, ग्राहक और मर्चेंट पेमेंट सिस्टीम ऑपरेटर (पीओएस) के तौर पर दावा कर सकते हैं। पीओएस अपने दावे के निपटान के लिए अथॉराइजेशन रद होने की तारीख से तीन साल के भीतर यानी 30 सितंबर 2022 तक वोडाफोन से अपने दावों के निपटान के लिए कह सकते हैं।

एफएमसीजी सेक्टर में सामानों के दामों में इस साल नहीं आएगा बदलाव

केंद्रीय बैंक ने कहा कि वोडाफोन एम -पैसा भुगतान प्रणाली ऑपरेटर (पीओएस) ने स्वेच्छा से प्राधिकरण के सामने समर्पण कर दिया था और पिछले साल वोडाफोन आइडिया ने आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के बंद होने के बाद एम- पेसा वर्टिकल को बंद करने का फैसला किया था, जिसके साथ इसका विलय किया जा रहा था। आरबीई ने वोडाफोन एम – पेसा समेत 11 फर्मों को भुगतान बैंक लाइसेंस दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल्याणकारी योजना का लाभ दिए जाने में हुई गड़बड़ी शीघ्र होगी दूर : सीता सोरेन

दुमका : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की वरिष्ठ नेता और दुमका जिले में जामा की विधायक सीता सोरेन ने कहा कि पूर्व में अयोग्य लोगों आगे पढ़ें »

नक्सलियों को 15 लाख की लेवी देने जा रहा ठेकेदार गिरफ्तार

औरंगाबाद : बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के अम्बावार तरी के निकट एक संदिग्ध वाहन से 15 लाख रुपये जब्त कर संवेदक समेत दो आगे पढ़ें »

ऊपर