आरबीआई ने एचडीएफसी की डिजिटल सर्विस पर लगाई रोक

आरबीआई ने कहा- निजी बैंक के बोर्ड को खामियां दूर करते हुए जवाबदेही तय करनी चाहिए
नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से निजी क्षेत्र के बैंक एचडीएफसी बैंक को एक बार फिर झटका लगा है। रिजर्व बैंक ने एचडीएफसी बैंक पर कुछ पाबंदियां लगाते हुए बैंक की सभी डिजिटल सर्विसेज को रोक दिया है। आरबीआई की ओर से लगाई गई रोक में नए क्रेडिट कार्ड भी शामिल है। हालांकि आरबीआई की ओर से लगाई गई ये रोक स्थायी नहीं है। वहीं पिछले दो सालों के भीतर ही ये तीसरा मौका है, जब एचडीएफसी बैंक पर किसी तरह की कोई पाबंदी लगाई गई है। इस रोक के बारे में जानकारी देते हुए एचडीएफसी बैंक ने बताया है कि बैंक की डिजिटल सर्विस को आरबीआई ने अस्थायी रूप से रोकने का आदेश दिया है। इसमें नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर भी रोक लगाई गई है। इसके साथ ही आरबीआई ने कहा है कि निजी बैंक के बोर्ड को खामियां दूर करते हुए जवाबदेही तय करनी चाहिए।
इन कारणों से बैंक को झेलनी पड़ी परेशानी
भारतीय रिजर्व बैंक ने एचडीएफसी बैंक को सलाह दी है कि वह अपने डिजिटल 2.0 पहल के तहत किसी भी ताजा गतिविधियों को रोक दे। साथ ही नए क्रडिट कार्ड ग्राहकों की सोर्सिंग करना बंद कर दे। दरअसल, पिछले दो सालों से अपनी इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और पेमेंट यूटिलिटी सेवाओं में बैंक को काफी परेशानी झेलनी पड़ी है।
डिजिटल सर्विसेज में रुकावट
बता दें कि एचडीएफसी बैंक की डिजिटल सर्विसेज में लगातार ग्राहकों को रुकावट के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था जिसकी आरबीआई ने भी बैंक से वजह पूछी थी। दरअसल, एचडीएफसी बैंक के डेटा सेंटर में गड़बड़ी की वजह से इसके यूपीआई पेमेंट, एटीएम सर्विसेज और कार्ड से होने वाली पेमेंट रुक गई थी, जिसके कारण ग्राहकों को परेशानी उठानी पड़ी थी। बता दें कि एचडीएफसी बैंक के डिजिटल सर्विसेज में पिछले दो साल में तीन बार इस तरह की गड़बड़ी का सामना करना पड़ा है। वहीं आरबीआई ने कहा था कि इसके डेटा सेंटर में अगर गड़बड़ी आई है तो इसकी वजह बताई जाए, जिसके जवाब में एचडीएफसी बैंक ने कहा था कि पिछले दो साल के दौरान सिस्टम और प्रोसेस में पर्याप्त सुधार किया गया है। हालांकि आरबीआई ने कहा था कि बैंक के दावों के बावजूद दिक्कतें आ रही हैं, जो की काफी गंभीर मामला है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रविवार को करे ये काम, सफलता होगी साथ

नई दिल्ली : ज्योतिष के मानें तो रविवार को सुबह-सुबह इस उपाय को करने से पूरे सप्ताह सफलता अपके कदम चूमेगी। ऐसी मान्यता है कि आगे पढ़ें »

सबसे अधिक मतदाता संख्या वृद्धि में अव्वल द‌क्षिण 24 परगना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः मतदाताओं की संख्या में वृद्धि के मामले में दक्षिण 24 परगना अव्वल है। आंकड़े यही दर्शाते हैं। चुनाव आयोग के अनुसार जिले में आगे पढ़ें »

ऊपर