आरबीआई ने एक बार फिर से ब्याज दरों में कटौती की

नई दिल्ली : आरबीआई ने एक बार फिर प्रमुख ब्याज दरों में कटौती करते हुए आरबीआई ने पॉलिसी रेपो रेट को 0.40 फीसद घटा दिया है। इस कटौती से अब रेपो रेट 4 फीसद पर आ गई है। आरबीआई ने गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मौद्रिक समीक्षा समिति की बैठक 3 से 5 जून को होनी थी, लेकिन इससे पहले ही समिति ने बैठक आयोजित कर अहम फैसले लिए हैं। एमपीसी के छह में से पांच सदस्य रेपो रेट में कटौती के निर्णय पर सहमत हुए हैं।

आरबीआई गवर्नर ने एमपीसी ने रेपो रेट के साथ ही रिवर्स रेपो रेट को भी घटाने का फैसला किया है और आरबीआई  ने रिवर्स रेपो रेट को 3.75 फीसद से घटा कर 3.35 फीसद कर दिया है। इससे पहले 27 मार्च को आरबीआई ने रेपो रेट में 0.75 फीसद की कटौती की थी, दास ने कहा कि ग्राहकों को दरों में कटौती का फायदा मिलने में तेजी आई है। रेपो रेट में कटौती के बाद बैंक लोन पर अपनी ब्याज दरों को कम कर सकते हैं, जिससे ग्राहकों को फायदा होगा।  लोन में ईमआई का बोझ कम होने से लोगों को थोड़ी लिक्विडिटी में राहत मिल सकती है। कोरोना वायरस के प्रकोप और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण इस समय कई लोगों के सामने नकदी का संकट है। आरबीआई गवर्नर ने बताया कि एमपीसी ने पॉलिसी पर एकोमोडेटिव रूख बरकरार रखने का निर्णय लिया है। आरबीआई आगे भी जरूरत पड़ने पर अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए मौद्रिक नीतियों को आसान कर सकता है।

सरकार द्वारा 20.97 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद आरबीआई गवर्नर ने कहा कि कोरोना वायरस प्रकोप के चलते मौजूदा वित्त वर्ष में जीडीपी के नकारात्मक रह सकता है, आरबीआई गवर्नर ने कहा कि कोविड-19 से दुनिया की इकोनॉमी को बड़ा नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई घटकर 11 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है। दास ने कहा कि डब्ल्यूटीओ के मुताबिक दुनियाभर में इस साल कारोबार 13 से 32 फीसद तक घट सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सांसदों के निलंबन पर भड़की ममता, कहा संसद से सड़क तक लड़ते रहेंगे

  कोलकाता : कृषि बिल को लेकर हुए हंगामें में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन, राजीव सातव, संजय सिंह, केके रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद आगे पढ़ें »

मोदी ने बिहार में 14,000 करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी

    नयी दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव 2020 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर राज्य को बड़ी सौगात दी। प्रधानमंत्री ने सोमवार को आगे पढ़ें »

ऊपर