आगामी बजट की तैयारियां हुई तेज, वित्तमंत्री बैंकों को लेकर कर सकती हैं ये बड़ी घोषणाएं

Nirmala Sitharaman

नई दिल्ली : आगामी बजट को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व्यवसायों के साथ लगातार बैठकें कर रही हैं और सुझाव ले रही हैं। एक फरवरी को वित्तमंत्री अपना दूसरा बजट पेश कर सकती हैं।

वहीं जानकारों का कहना है कि इस बात की उम्मीद काफी कम है कि आगामी बजट में सरकार पब्लिक सेक्टर बैंक में पूंजी डालने की घोषणा करेगी, लेकिन माना जा रहा है कि सरकार को बैंकों को फंसे हुए कर्ज की वसूली की प्रक्रिया तेज कर सकती है और बाजार से फंड जुटाने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

अर्थव्यवस्था में तेजी के संकेत मिले, इन क्षेत्रों में आएगी तेजी

बैंकों में सरकार पहले ही डाल चुकी है पैसे
सरकार चालू वित्त वर्ष में बैंकों में डाली जाने वाली 70,000 करोड़ रुपये में से 68,855 करोड़ रुपये पहले ही डाल चुकी है। चारों एंकर बैंकों में से पीएनबी, को 16,091 करोड़ रुपये, केनरा बैंक को 6,571 करोड़ रुपये, इंडियन बैंक को 2,534 करोड़ रुपये और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को 11,768 करोड़ रुपये सरकार की ओर से मिले हैं।

इस साल ये कंपनियां लॉन्च करेंगी 5जी स्मार्टफोन्स, जानिए क्या होगी कीमत

बैंक जुटाएंगे धन
माना जा रहा है कि केंद्र की मोदी सरकार वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान फंड जुटाने के लिए सरकारी बैंकों के नॉन-कोर बिजनेस के विनिवेश या बिक्री के विकल्प पर भी विचार कर सकती है और इस कैलेंडर वर्ष में बैंकों के पास एनसीएलटी और गैर-एनसीएलटी दोनों तरह के मामलों के समाधान से वसूली और अन्य माध्यमों से धन जुटाया जा सकता है।

एसबीआई के बाद अब इस बैंक ने की ब्याज दरों में कटौती, पुराने ग्राहक भी उठा सकेंगे फायदा

दरअसल अब बैंक भी सरकार की हिस्सेदारी कम करने की तैयारियों में जुट गए हैं। एसबीआई ने एसबीआई कार्ड्स, पेमेंट सर्विस लिमिटेड और यूटीआई म्यूचुअल फंड में अपनी हिस्सेदारी कम करने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी है। वहीँ बैंक साथ शेयरों की बिक्री के बारे में भी सोच रही है। अन्य सरकारी बैंक भी धन जुटाने की कोशिश में हैं। बैंकों का विलय भी सरकार के लिए फायदेमंद साबित होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

aries-daily-horoscope

मेष राशिफल 7 जून से 13 जून

आगे पढ़ें »

cancer-daily-horoscope

कर्क राशिफल 7 जून से 13 जून

कर्क राशिफल #tab_container_55207 { overflow:hidden; display:block; width:100%; border:0px solid #ddd; margin-bottom:30px; } #tab_container_55207 .tab-content{ padding:20px; border: 1px solid #e6e6e6 !important; margin-top: 0px; background-color:#ffffff !important; color: #000000 !important; font-size:16px !important; font-family: Open Sans !important; border: 1px solid #e6e6e6 !important; } #tab_container_55207 .wpsm_nav-tabs { आगे पढ़ें »

ऊपर