आईएमएफ ने कहा, कॉरपोरेट टैक्स में कटौती स्वागत योग्य फैसला, बढ़ेगा निवेश

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के भारत के फैसले की तारीफ करते हुए कहा है कि यह स्वागत योग्य फैसला है, क्योंकि इसका निवेश पर सकारात्मक असर होगा। आईएमएफ ने कहा कि भारत को राजकोषीय स्थिति से जुड़ी चुनौतियों का समाधान करना चाहिए, जिससे लंबे समय तक मजबूती बनी रहे। आईएमएफ के निदेशक (एशिया एवं प्रशांत विभाग) चांगयोंग री ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राजकोषीय मोर्चे पर भारत की राह तंग है, ऐसे में सावधानी से चलना चाहिए। पिछली दो क्वार्टर की सुस्ती को देखते हुए इस वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 6.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जो बढ़कर 2020 में सात प्रतिशत हो जाएगी। मोनेटरी पॉलिसी में किए गए उपाय तथा कॉरपोरेट टैक्स में कटौती से निवेश में सुधार का अनुमान है।

आईएमएफ की डिप्टी डायरेक्टर (एशिया और प्रशांत विभाग) एन्ने-मारी गुल्ड-वोल्फ ने कहा कि भारत को गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र ( एनबीएफसी) की दिक्कतों को दूर करना चाहिए। सरकारी बैंकों में पूंजी डालने समेत कुछ सुधार हुए हैं, लेकिन गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र की दिक्कतें अभी भी खत्म नहीं हुई हैं। सरकार इससे अवगत भी है। भारत के कर्ज का स्तर ऊंचा है और राजकोषीय मोर्चे पर सुधार प्राथमिकता होनी चाहिए, लेकिन एक संघीय व्यवस्था में राजकोषीय मोर्चे पर सुधार अधिक जटिल है। इनमें से अलग राज्यों में राजकोषीय संरचना की बात करें तो यहां चुनौतियां अलग होती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विमान की सीट के नीचे मिला डेढ़ किलो सोना

कोलकाता : बैंकाक से कोलकाता आये स्पाइस जेट के विमान से कस्टम्स की एआईयू टीम ने डेढ़ किलो सोना जब्त किया है। सूत्रों के मुताबिक आगे पढ़ें »

भारत के प्रति कृतज्ञ है बंगलादेश – हसीना

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बंगलादेश की पीएम शेख हसीना के बीच शुक्रवार को एक 5 सितारा होटल में बैठक हुई। इस आगे पढ़ें »

ऊपर