अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

नई दिल्ली : वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत वैश्विक प्रतिबंधों का पालन करना चाहता है, जिसमें वेनेजुएला और रूस पर लगाया गया अमेरिकी प्रतिबंध भी शामिल है, लेकिन भारत को आर्थिक मजबूती और नीतिगत हितों को बरकरार रखने की जरूरत है।

आपको बता दें कि अमेरिका ने इस साल जनवरी में वेनेजुएला की ऑयल इंडस्‍ट्री पर सबसे कठिन प्रतिबंध लगाया था और इस कदम से कई वैश्विक ग्राहक इससे दूर हो गए। हालाँकि इसमें विकल्‍प कम होने के कारण भारत की रिलायंस इंस्‍ट्रीज लिमिटेड रूस की कंपनी रोसनेफ्ट से वेनेजुएला के क्रूड ऑयल की खरीदारी करती रही है।

भारत में पहली बार आयोजित होगा वर्ल्ड कॉफी कांग्रेस और एक्सपो का आयोजन

वित्त मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने अमेरिका के सामने अपना नजरिया रखा है, कुछ खास जो हमारे लिए महत्वपूर्ण है उन्‍हें लेकर अमेरिका को यह बात समझाई गई है कि भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र अमेरिका का नीतिगत साझेदार है। ‘उन्‍होंने कहा कि अमेरिका के साथ एक मजबूत साझेदारी हमारी है, लेकिन हमें मजबूत अर्थव्‍यवस्‍था के रास्ते में बाधा स्वीकार नहीं।

मंगलवार को अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष ने 2019 में भारत के ग्रोथ के अनुमानों में कटौती की थी और वहीँ अमेरिका-चीन के व्‍यापार युद्ध के कारण 2019 में वैश्विक ग्रोथ 2008-09 के आर्थिक संकट के बाद सबसे सुस्‍त रहने का अनुमान किया गया है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर