अमेरिका में चीन-मेक्सिको से इस्पात का आयात होगा महंगा

ट्रंप प्रशासन ने लगाये नये शुल्क

वाशिंगटनः मेक्सिको और चीन से आयात किए जाने वाले कुछ इस्पात उत्पादों पर अमेरिका ने नए शुल्क लगाए हैं। अमेरिका ने कहा है कि ये देश अनुचित सब्सिडी देकर अपने विनिर्माताओं की मदद कर रहे हैं। ऐसे समय यह फैसला लिया गया है जब दो माह पहले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मेक्सिको और कनाडा से आने वाले इस्पात एवं एल्युमीनियम उत्पादों पर से शुल्क हटाने पर सहमत हुए थे। तीनों देशों के बीच एक नए संशोधित उत्तर अमेरिकी मुक्त व्यापार समझौते पर सहमति बनी है। अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने पाया कि निर्माण में उपयोग होने वाले आयातित इस्पात को चीन, मेक्सिको और कनाडा से सब्सिडी के रूप में राहत दी जा रही है। कनाडा द्वारा दी जा रही सब्सिडी नगण्य है इसलिए उस पर शुल्क नहीं लगाया गया है।

क्या है कारणः यहां की स्थानीय इस्पात कंपनियों ने फरवरी में इस संबंध में शिकायत की थी जिसके बाद यह निर्णय किया गया है। जांच में अमेरिका ने पाया कि चीन और मेक्सिको के निर्यातकों को 30.3 प्रतिशत से 177.43 प्रतिशत के बीच सब्सिडी का लाभ मिल रहा है। अमेरिका के सीमाशुल्क अधिकारी अब सब्सिडी दरों के आधार पर आयात शुल्क संग्रह करना शुरू करेंगे। अधिकारियों को यदि जांच में कुछ भी अनियमित नहीं मिलता है तो इस राशि को वापस किया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

guha

नरेंद्र मोदी परिश्रमी, राहुल गांधी का सांसद चुना जाना विनाशकारी : रामचंद्र गुहा

कोझिकोड : जानेमाने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने शुक्रवार को कहा कि ‘‘खानदान की पांचवी पीढ़ी’’ के राहुल गांधी के पास भारतीय राजनीति में ‘‘कठोर परिश्रमी आगे पढ़ें »

nirbhaya

वकील इंदिरा जयसिंह पर भड़कीं निर्भया की मां, कहा- ऐसे लोगों के कारण होते हैं दुष्कर्म

नई दिल्ली : निर्भया मामले में उच्चतम न्यायालय की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह के माफी के सुझाव पर निर्भया की मां ने कड़ा ऐतराज जताया आगे पढ़ें »

ऊपर