अमेरिका ने बाहर के देशों के लिए जॉब वीजाओं को अस्थाई रूप से निलंबित किया

नई दिल्ली : अमेरिका में लगातार बेरोजगारी के आंकड़े को देखते हुए ट्रंप ने देश से बाहर के लोगो को जॉब के लिए मिलने वाले वीजाओं को अस्थाई रूप से निलंबित करने का फैसला लिया है। इनमें एच-1बी और एल1 वीजा मुख्यरूप से शामिल हैं, इन वीजाओं से भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स को काफी फायदा होता था।

अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस फैसले से कुल 5,25,000 नौकरियां खाली होंगी। कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था को हुए बेरोजगारी को कम करने के लिए ट्रंप जल्द से जल्द उपाय ढूंढ रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने सोमवार को एच-1बी, एच-4, एच-2बी, जे और एल वीजा सहित कई गैर-अप्रवासी वीजाओं को चालू वर्ष के अंत तक अस्थाई रूप से निलंबित करने की घोषणा की थी।
व्हाइट हाउस ने कहा है कि यह ‘ट्रंप के ‘अमरिका फर्स्ट रिकवरी’ प्रयास का हिस्सा है। जानकारों का कहना है कि ट्रंप के इस फैसले का बड़ा असर भारत पर होगा। भारतीय पेशेवरों को अब कम से कम साल के अंत तक इंतजार करना होगा, वीजा रिन्यू कराने वालों को अब साल भर का इंतजार करना होगा।

अमेरिका में आर्थिक सुधार की गति पड़ सकती है सुस्त
इस फैलसे की अप्रवासियों के लिए काम कर रहे मानवाधिकार समुदाय ने कड़ी आलोचना की है। वहीं माना जा रहा है कि वीजाओं पर प्रतिबंध से अमेरिका के एंप्लायर्स समेत परिवारों, यूनिवर्सिटी, अस्पतालों, समुदायों के साथ-साथ अमेरिका की आर्थिक सुधार की गति भी सुस्त पड़ जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या आप भी सोते समय सिरहाने रखते हैं यह चीज़ें? हो जाएं सावधान!

कोलकाताः अक्सर हमारी आदत होती है कि रात को सोते समय अपने सिरहाने, अर्थात तकिए के नीचे कुछ न कुछ चीजें रख लेते हैं। कभी-कभी आगे पढ़ें »

गोद में रखकर लैपटॉप से काम करने की ना करें भूल, संतान सुख से हो जाएंगे वंचित

कोलकाताः वर्क फ्रॉम होम का चलन बढ़ गया है और लोग घंटो-घंटो लगातार लैपटॉप पर काम करते हैं तो ऐसे में अगर लंबे समय तक आगे पढ़ें »

ऊपर