अमेरिका-चीन के बीच तनाव विश्व अर्थव्यवस्था के लिये खतरा : लेगार्द

पेरिस : अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष की अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्द ने अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्यापार तनाव को विश्व अर्थव्यवस्था के लिये सबसे बड़ा खतरा बताया है।
व्यापार समझौते के होने की संभावना कम
पेरिस में एक सम्मेलन के दौरान लेगार्द ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘स्पष्ट रूप से अमेरिका तथा चीन के बीच तनाव दुनिया की अर्थव्यवस्था के लिये खतरा है।’’ साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ताजा अफवाहों और ट्वीट-संदेशों से दोनों देशों के बीच किसी व्यापार समझौते के होने की संभावना कम हुई है।
व्यापार युद्ध के प्रभावों को लेकर आगाह किया
पेरिस फोरम के इस कार्यक्रम में फ्रांस के आर्थिक मामलों के मंत्री ब्रुनो ले मायरे ने दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्था के बीच व्यापार युद्ध के प्रभावों को लेकर आगाह किया। मंत्री ने कहा, ‘‘हम चीन और अमेरिका के बीच मौजूदा बातचीत पर नजर रख रहे हैं। हम चाहते हैं कि दोनों देश पारदर्शिता और बहुपक्षवाद के सिद्धांतों का सम्मान करे।’’ उन्होंने दोनों पक्षों से ऐसे निर्णय लेने से बचने को कहा जिसका वैश्विक वृद्धि पर नकारात्मक असर पड़े।

बता दें कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ट्विटर पर संदेश देकर वैश्विक बाजार को झटका दिया। उन्होंने कहा कि चीन से आयातित 200 अरब डाॅलर के वस्तुओं पर शुल्क की दर मौजूदा 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत किया जाएगा।
उधर, चीन ने मंगलवार को कहा कि उसके मुख्य व्यापार वार्ताकार अमेरिकी प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के लिये इस सप्ताह अमेरिका जाएंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर