अमेजन पर अब मिलेंगे ग्रीनबग के ईको-फ्रेंडली उत्पाद

नई दिल्ली : बैंगलोर-स्थित युगल ज्योति पहाड़सिंह एवं अरुण बालचंद्रन ने 2015 में ग्रीनबग की शुरुआत की थी, जब वे घरों में प्लास्टिक के कचरे की थैली का विकल्प तलाश रहे थे। यह ईको-फ्रेंडली कचरा फेंकने के लिए टिकाऊ एवं ईको-फ्रेंडली विकल्प है। उन्होंने आॅल-पर्पज फ्लोर के लिए न्यूजपेपर से बने अपसाईकल्ड, बायोडिग्रेडेबल डस्टबिन लाईनर्स बनाए। समाज को लाभान्वित करने के लिए ज्योति और अरुण ने निर्णय लिया कि वो सुविधाओं से वंचित महिलाओं को इस उत्पाद की निर्माण प्रक्रिया का प्रशिक्षण देंगे और उन्हें बेहतर आजीविका अर्जित करने में मदद करेंगे।

ग्रीनबग जैसे हैंडमेड काॅटेज इंडस्ट्री उत्पाद के लिए महिलाओं को इन गारबेज बैग्स के निर्माण की प्रक्रिया पर प्रशिक्षित करने के लिए बिन लाईनर्स के उत्पादन एवं उसके प्रशिक्षण में लगने वाले प्रयास व समय को देखते हुए विशाल बाजार की पहुंच जरूरी थी। पिछले 4 सालों में ग्रीनबग लगभग 400 महिलाओं को इन उत्पादों के निर्माण का प्रशिक्षण दे चुका है। 2017 में ग्रीनबग अमेजन सहेली प्रोग्राम के द्वारा अमेजन इंडिया के आॅनलाईन सेलिंग प्लेटफाॅर्म से जुड़ा। यह प्रोग्राम महिला उद्यमियों को अमेज़न मार्केटप्लेस में सूचीबद्ध करने और बेचने का प्रशिक्षण देकर उन्हें सहयोग प्रदान करता है। अमेजन पर लिस्टिंग के बाद इस स्टार्टअप के आॅर्डर एवं सेल्स में 3 गुना वृद्धि हुई। फिलहाल 100,000 से ज्यादा महिला उद्यमी अमेजन सहेली प्रोग्राम द्वारा सशक्त बनी हैं।

कंपनी का कहना है कि अमेज़न सहेली प्रोग्राम द्वारा हम उपभोक्ताओं की मांग, डिजाईन, उत्पाद की विशेषताओं एवं सही मूल्य में पैकेजिंग और शिपिंग की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, जो उपभोक्ताओं के लिए फायदेमंद होगी। इसके द्वारा 75 बैग्स का हमारा पैक निर्मित होगा तथा हमारा खर्च निकालकर हम ग्राहकों के लिए फायदेमंद सौदा निर्मित कर सकेंगे। ज्योति पहाड़सिंह ने बताया कि अमेज़न सहेली स्टोरफ्रंट द्वारा ब्रांड की ज्यादा विज़िबिलिटी के कारण ग्रीनबग की सफलता की वजह से ग्रीनबग बैग्स की खरीद एवं इनके बारे में जागरुकता बढ़े हैं।

अमेजन सहेली स्टोरफ्रंट में अद्वितीय उत्पाद हैं, जो देश में क्षेत्रीय महिला उद्यमियों द्वारा स्थानीय स्तर पर बनाए गए हैं। इनमें हैंडीक्राफ्ट, अपरेल, हैंडबैग्स एवं होम डेकोर के सामान हैं, जो सहेली कार्यक्रम के तहत सीधे महिला उद्यमियों द्वारा बेचे जाते हैं। अमेजन सहेली ने देश में 100000 महिला उद्यमियों को विविध श्रेणियों, जैसे क्लोदिंग, आॅफिस प्रोडक्ट्स, हैंडबैग्स, ग्रोसरी, होम एवं किचन एक्सेसरीज एवं ज्वेलरी में अपने उत्पाद बेचने में मदद की है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे ने आमदनी बढ़ाने के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है। रेलवे ने प्रमोशनल एक्टिविटी के लिए ट्रेनों की आगे पढ़ें »

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

अकोला : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को महाराष्ट्र के अकोला में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि यह आगे पढ़ें »

ruhani

ईरानी राष्ट्रपति रूहानी बोले- अमेरिका ने हम पर प्रतिबंध लगाकर मानवता के खिलाफ अपराध किया

पूर्व पीएम और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के समय में ‘सबसे बुरे दौर में’ थी अर्थव्यवस्था: वित्तमंत्री

महिलाओ में बढ़ रहा है फॉरेस्ट फेशियल थेरेपी का क्रेज, जनिए क्या हैं फायदें

mexico

मैक्सिको में ड्रग्स तस्करों की गोलीबारी में एक जवान समेत 15 की मौत

abdulla

जम्मू-कश्‍मीर : फारूक अब्‍दुल्ला नजरबंद, बेटी साफिया को भी किया गया गिरफ्तार

chidambaram

आईएनएक्स केस में चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ईडी, दो घंटे बाद किया गिरफ्तार

अगले साल अच्छी रहेगी अर्थव्यवस्था : आईएमएफ रिपोर्ट

air

वायुसेना प्रमुख बोले- डीआरडीओ को पांचवीं पीढ़ी का लड़ाकू विमान बनाना जरूरी

ऊपर