अब सोचने से सड़क पर दौड़ पड़ेगी आपकी कार!

नई दिल्लीः एक ओर जहां देश की बड़ी कार निर्माता कंपनियां ड्राइवरलैस कार बनाने पर करोड़ों रुपए खर्च करने में जुटी है वहीं निसान सबसे हटके तकनीक वाली कार लाने की योजना बना रही है। दरअसल, निसान ऐसी तकनीक पर काम कर रही है जहां कार इंसान के दिमाग को पढ़ पाएगी यानी अब कार आपके दिमाग से चलेगी।
5-10 साल का लग सकता है वक्त
वी2 वी यानि व्हीकल टू व्हीकल तकनीक के बारे में सभी ने सुना ही है। इसी तकनीक को बीटूवी यानि ब्रेन टू व्हीकल का नाम दिया है। इस तकनीक से ड्राइवर के दिमाग से सिग्नल्स लेकर कार को ऑपरेट किया जाएगा। कंपनी के अनुसार इस तकनीक के अमल में आने में अभी 5 से 10 साल तक का वक्त लग सकता है।
दिमाग से निकलने वाले तरंगों को समझेगा
निसान ने रिसर्च की है जिससे ड्राइवर के ब्रेन से निकलने वाली तरंगों को समझा जा सकेगा। इस स्पेशल तकनीक को निसान सीईएस 2018 में पेश करेगी। ब्रेन कोडिंग पर बेस्ड निसान अपनी यह खास टेक्नॉलजी का डेमो सीईएस 2018 में देगी। यह टेक समारोह 9-12 जनवरी के बीच अमेरिकी शहर लास वेगास में आयोजित किया जाना है।
पहनना होगा स्कलकैप
इस तकनीक को ऑपरेट करने के लिए ड्राइवर को एक खास तरह का स्कलकैप डिवाइस पहनना होगा। इसके जरिए ड्राइविंग के दौरान ड्राइवर्स की कार्यकलाप पर नजर रखते हुए उनको होने वाली समस्याओं का पता लगाया जा सकता है। स्टीअरिंग घुमाने से लेकर ब्रेक लगाने, स्पीड कम और ज्यादा करने का पता कार को पहले से ही लग जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दीपवाली पर नकली मिठाइयों से रहें सावधान, स्वास्थ हो सकता है खराब

नई दिल्ली : त्योहारों पर मिठाइयां ना हो तो त्योहारों का मजा नहीं आता। दीपावली जैसे जैसे करीब आ रही है, बाजार में मिलावटी छेना आगे पढ़ें »

आईएमएफ ने कहा, कॉरपोरेट टैक्स में कटौती स्वागत योग्य फैसला, बढ़ेगा निवेश

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के भारत के फैसले की तारीफ करते हुए कहा है कि यह स्वागत आगे पढ़ें »

ऊपर