अब चेक क्लीयर करवाना होगा आसान, आरबीआई जल्द लागू करेगी यह सिस्टम

नई दिल्ली : रिजर्व बैंक ने कहा है कि इस साल सितंबर से पूरे देश में चेक ट्रांकेशन सिस्टम लाने का फैसला किया है। यह सिस्टम साल 2010 में लागू हुआ था, जो फ़िलहाल कुछ बड़े शहरों में प्रचलन में है। इससे सीटीएस से ग्राहकों को अपना चेक क्लीयर करवाना आसान हो जाएगा और इसमें समय की भी बचत होगी।

डेवलपमेंटल एंड रेगुलेटरी पॉलिसीज पर आरबीआई ने कहा कि देश के कुछ बड़े शहरों में परिचालित सीटीएस से क्षमताओं में काफी बढ़ोत्तरी हुई है, जिसके बाद सितंबर 2020 से पूरे देश में सीटीएस का परिचालन शुरू किया जाएगा। यह लेनदेन की एक सुरक्षित प्रक्रिया है,जिसमें ग्राहक को चेक को क्लीयर करवाने के लिए एक बैंक से दूसरे बैंक नहीं जाना होगा।

ऑटो एक्सपो 2020 में स्कोडा ने इंडिया 2.0 प्रोजेक्ट के तहत पेश की कई गाड़ियां

पूरे देश में सीटीएस लाने के साथ ही आरबीआई ने डीपीआई लॉन्च की बात भी कही है। डिजिटल पेमेंट के विस्तार को देखते हुए यह बहुत तेजी से बढ़ रहा है। आरबीआई ने कहा है कि जल्द ही डिजिटल पेमेंट्स इन्डेक्स लॉन्च किया जाएगा। बैंक ने कहा कि डीपीआई कई मापदंड़ों पर आधारित होगी और विभिन्न डिजिटल पेमेंट मोड्स की पेठ और गहराई को सही से दर्शा सकेगी।

आरबीआई ने रेपो रेट एवं रिवर्स रेपो रेट में नहीं किया कोई बदलाव

डिजिटल पेमेंट्स में पर्याप्त वृद्धि और पेमेंट इकोसिस्टम में निकायों द्वारा मैच्योरिटी पाने के साथ पेमेंट सिस्टम में निकायों के ऑर्डर के अनुसार परिचालन के लिए एक स्व-नियामक संगठन का होना जरूरी है। आरबीआई ने डिजिटल पेमेंट सिस्टम के लिए अप्रैल 2020 तक एसआरओ की स्थापना के लिए फ्रेमवर्क तैयार करेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईपीएल नहीं होने पर फ्रैंचाइजियां नहीं देंगी वेतन, मुश्किल में घरेलू खिलाड़ी

 नयी दिल्ली : कोई खेल नहीं तो कोई वेतन नहीं। इस साल आईपीएल में करार करने वाले खिलाड़ियों के साथ भी ऐसा हो सकता है आगे पढ़ें »

विम्बलडन के रद्द होने की संभावना : मर्रे

लंदन : एंडी मर्रे के भाई और दो बार के चैम्पियन पुरुष युगल खिलाड़ी जैमी मर्रे ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले आगे पढ़ें »

ऊपर