अब ई-कॉमर्स के माध्यम से नहीं मंगा सकेंगे विदेशी गिफ्ट, सरकार ने लगाई रोक

नई दिल्ली : सरकार ने एक आदेश जारी कर अब कोई भी सामान ई-कॉमर्स के माध्यम से गिफ्ट के रूप में विदेश से मंगाने पर रोक लगा दी है। विदेश व्यापार महानिदेशालय ने जानकारी दी है कि देश में ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से काफी तरह के सामान बतौर गिफ्ट आयात किए जा रहे थे। इससे न केवल घरेलू उत्पादों की बिक्री प्रभावित हो रही थी, बल्कि सरकार को राजस्व का भी नुकसान हो रहा था।

दरअसल गिफ्ट के तौर पर आने वाले सभी सामान आयात शुल्क से मुक्त थे। लंबे समय तक इसपर विचार के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है। अब ई-कॉमर्स के जरिये सामान केवल ड्यूटी चुकाकर आयात किया जा सकेगा। हालांकि, गंभीर बीमारी से पीडि़त परिजनों के लिए विदेश में रहने वाले लोग जीवन रक्षक दवाइयां भेजने में रियायत दी है, इसपर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके अलावा राखी पर भी कोइ टैक्स नहीं लगेगा।

आपको बता दें कि सरकार के इस कदम से क्लजब फैक्ट्री , विश, और शीन जैसी कंपनियां भारत में अब गिफ्ट के तौर पर ग्राहकों को सामान नहीं भेज सकेंगी। इससे पहने चीन के ई-कॉमर्स वेंडर्स बिना ड्यूटी का भुगतान किए कॉमर्शियल शिपमेंट को गिफ्ट बता कर भेजा करती थीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारतीय गेंदबाजी में किसी भी टीम को सस्ते में समेटने की काबिलियत : स्वान

कोलकाता : इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान ने बुधवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह की अगुआई वाला भारतीय गेंदबाजी आक्रमण किसी भी टीम आगे पढ़ें »

ब्लैकवुड का आरोप, इंग्लिश टीम स्लेजिंग कर रही थी

मैनचेस्टर : पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज की जीत में अहम भूमिका निभाने वालों में शामिल रहे बल्लेबाज जर्मेन ब्लैकवुड ने कहा है कि उनकी मैच आगे पढ़ें »

ऊपर