अगले साल अच्छी रहेगी अर्थव्यवस्था : आईएमएफ रिपोर्ट

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारतीय इकोनॉमी को दुनिया में मजबूत अर्थव्यव्स्थाओं में से एक बताया है। संस्था की अनुसंधान उपनिदेशक गियान मारिया मिलेसी-फेरेटी ने अमेरिका में एक बड़े सम्मेेलन में कहा कहा कि चालू कारोबारी साल 2019-20 के लिए भारत की आर्थिक विकास दर अनुमान को हालांकि घटाकर कर 6 फीसदी कर दिया गया है, लेकिन ग्लोबली यह फिर भी काफी मजबूत है।

2020 तक विकसित होगी अर्थव्यवस्था
फेरेटी और आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने वाशिंगटन में आईएमएफ के वैश्विक आर्थिक आउटलुक की रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि अगले साल भारत की अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी।

भारत में पहली बार आयोजित होगा वर्ल्ड कॉफी कांग्रेस और एक्सपो का आयोजन

भारत और चीन रहेंगे आगे
इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और चीन चालू वित्तवर्ष में अपनी 6.1 फीसदी की आर्थिक विकास दर के साथ दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में शीर्ष स्थान पर रहेंगे।

वैश्विक स्तर पर मजबूती
इस मौके पर मिलेसी फेरेटी ने कहा कि भारत की आर्थिक विकास दर वैश्विक अर्थव्यवस्था के मानकों के अनुसार काफी मजबूत है, जबकि हमने भारत के लिए काफी उच्च मानक रखे थे, उससे कम है।

पीएफ खाते में जमा हुआ ब्याज, इन आसान स्टेप्स से जानिए बैलेंस

ग्लोकबल इकोनॉमी 3% पर
साथ ही उन्होंने कहा कि छह फीसदी से अधिक आर्थिक विकास दर उल्लेखनीय है और खासतौर से उस देश के लिए काफी महत्वपूर्ण है, जिसकी इतनी बड़ी आबादी है। वहीँ गोपीनाथ ने कहा कि यह आर्थिक विकास दर वैश्विक अर्थव्यवस्था के विपरीत है, जिसकी विकास दर सिकुड़कर 2019 में तीन फीसदी पर आ गई है। दरअसल वैश्विक मंदी के बाद से इसकी रफ्तार धीमी पड़ गई है।

2020 में 7% रहेगा जीडीपी
आईएमएफ ने भारत की अर्थव्यवस्था के लिए अगला साल बेहतर बताया है। गोपीनाथ ने कहा कि हमारा अनुमान है कि भारत 2020 में सात फीसदी की विकास दर हासिल करेगा। भारत की अर्थव्यवस्था 2019 में 6.1 फीसदी की दर से रफ्तार भरेगी और 2020 में सात फीसदी की विकास दर हासिल करेगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर