बंगाल में संगठन को लेकर दी गयी गलत रिपोर्ट, केंद्रीय नेतृत्व रोष में

अब लिया जाएगा तकनीक का सहारा सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : बूथ स्तर पर भाजपा के संगठन के मामले में देश भर में सबसे पीछे पश्चिम बंगाल है। वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले देश भर में संगठन का हाल जानने के लिए केंद्र की सत्ताधारी पार्टी ने आंतरिक समीक्षा की। इसमें इस राज्य में भाजपा की सांगठनिक खामियां उभरकर सामने आयी हैं। इसके साथ ही आरोप लग रहे हैं कि गत कुछ वर्षों में जो रिपोर्ट प्रदेश भाजपा की ओर से केंद्रीय नेतृत्व को भेजी गयी थी, वह रिपोर्ट सही नहीं थी। प्रदेश भाजपा की ओर से गलत रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्व को पेश की गयी जिसके बाद अब केंद्रीय नेतृत्व रोष में है। सवाल उठ रहे हैं कि मोदी व शाह के पास गलत रिपोर्ट पेश की गयी जबकि इन रिपोर्टों के आधार पर ही गत विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटें जीतने की बात केंद्रीय नेतृत्व द्वारा कही जा रही थी। इन गलत रिपोर्टों के कारण भाजपा सूत्रों का कहना है कि अब से पूरी तरह ऑनलाइन तकनीकी से डेटा संग्रह करने का काम किया जाएगा। यहां बूथ के सभी तथ्य, बूथ अध्यक्ष व सदस्यों के नाम, पता, फोन नंबर, जन्म की तारीख, फोटो, पैन व आधार कार्ड का नंबर समेत विस्तृत तथ्य देने होंगे। केवल इतना ही नहीं बल्कि इस काम में और पारदर्शिता लाने के लिए भाजपा की ओर से एक विशेष मोबाइल ऐप भी लाया जा रहा है। इस एैप में संगठन के निचले स्तर के कार्यकर्ताओं के तथ्य रहेंगे। वि​भिन्न फॉर्मेट में रहे तथ्यों की जांच भी दिल्ली से की जाएगी। एक भाजपा नेता ने कहा कि पहले कोई किसी प्रकार का तथ्य जमा कर देता था, क्रॉस चेक नहीं हो पाता था। हालांकि अब ऐसा संभव नहीं होगा औऱ् इसके लिए प्रदेश भाजपा ‘डेटा प्रबंधन व उपयोग’ नाम से एक विशेष कमेटी भी बना रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर