नहीं मिल रहे कार्यकर्ता, 3 जिलों में केवल 25% बूथ कमेटी का हुआ गठन

31 दिसम्बर तक सभी बूथ कमेटियों के गठन का बंसल ने दिया निर्देश
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : वर्ष 2021 में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव के बाद से ही प्रदेश भाजपा कई उथल-पुथल से गुजर रही है। प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर दिलीप घोष को हटाये जाने से लेकर कैलाश विजयवर्गीय व शिवप्रकाश जैसे वरिष्ठ नेताओं कोे भी बंगाल से दूर किया गया। इस बीच, संगठन में भी कई अहम बदलाव किये गये और प्रदेश कार्यकारिणी से लेकर जिला स्तर तक कमेटी में परिवर्तन किये गये। इधर, यूपी के कद्दावर भाजपा नेता सुनील बंसल और बिहार के मंगल पाण्डेय को प्रदेश में संगठन की जिम्मेदारी दी गयी। पश्चिम बंगाल के पर्यवेक्षक सुनील बंसल फिलहाल पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं और संगठन की अहम बैठक कर रहे हैं। मंगलवार को उन्होंने हावड़ा जिले में बैठक की। उनके अलावा इसमें अमित मालवीय, सतीश धोंड, ज्योतिर्मय सिंह महतो, संजय सिंह, मनोज पाण्डेय, प्रियंका टिबड़ेवाल, उमेश राय व अन्य भाजपा नेता मौजूद थे। मुख्य रूप से 3 जिलों हावड़ा, हावड़ा ग्रामीण और श्रीरामपुर को लेकर यह बैठक की गयी। पार्टी सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में सुनील बंसल ने बूथ कमेटियों के अलावा जिला, मण्डल व शक्ति कमेटियों का ब्योरा लिया। उन्होंने यह भी ​जानना चाहा कि बूथ कमेटी का गठन कहां तक हुआ है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में सामने आया कि हावड़ा, हावड़ा ग्रामीण और श्रीरामपुर को मिलाकर केवल 25% ही बूथ कमेटियों का गठन हो पाया है जबकि 75% बूथ कमेटियां अब भी बाकी हैं। इसे लेकर सुनील बंसल ने बैठक में असंतोष जाहिर किया। उन्होंने निर्देश दिया है कि 31 दिसम्बर तक बूथ कमेटियों केे गठन का कार्य पूरा हो जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि जनवरी से पंचायत चुनाव के कार्य में उतर जाना होगा जिस कारण इसके बाद बूथ कमेटियों के गठन का समय नहीं मिल पायेगा। ऐसे में इसी महीने तक बूथ कमेटियों का गठन कर लेना होगा। हालांकि भाजपा के सूत्रों ने बताया कि बूथ कमेटियों के गठन में सबसे अधिक समस्या कार्यकर्ता न मिलने की आ रही है। इसके पीछे गत विधानसभा चुनाव में हुई हिंसा और उसके बाद नेतृत्व का कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा न होना कारण माना जा रहा है। इस वजह से आज तक काफी संख्या में निष्क्रिय हुए कार्यकर्ता अब भी सक्रिय नहीं हुए हैं। ऐसे में जब कार्यकर्ता ही नहीं मिल रहे हैं तो बूथ कमेटियों के गठन में पार्टी को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। आज यानी बुधवार को आरामबाग व हुगली जिलों के साथ सुनील बंसल बैठक करेंगे। ऐसे में देखना यह है कि सुनील बंसल द्वारा दी गयी डेडलाइन के अंदर बूथ कमेटियों का कार्य पूरा हो पाता है या नहीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विधवा मां के थे अवैध संबंध, बेटी ने किया विरोध तो उसको उतारा मौत के घाट

नदियाः पिता की मौत के बाद मां इलाके के ही एक युवक के साथ प्रेम संबंध बनाने लगी। महिला की 18 वर्षीय बेटी इस बात आगे पढ़ें »

हावड़ा : बागनान स्टेशन के निकट लगी आग, कई दुकानें जलकर राख

हावड़ा : बागनान रेलवे स्टेशन से सटे बाजार में लगी भीषण आग। पंद्रह से बीस दुकानें जलकर रख हो गई हैं। आपको बताते चलें कि आगे पढ़ें »

ऊपर