कोयला-गौ तस्करी में बढ़ीं तृणमूल सांसद अभिषेक के करीबी विनय मिश्रा की मुश्किलें

कोलकाता : कोयला तस्करी और गौ तस्करी मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी के करीबी विनय मिश्रा की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। विनय मिश्रा के खिलाफ ओपन वारंट मिलने के बाद अब सीबीआई ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

मिडल ईस्ट में कहीं छुपा हुआ है विनय मिश्रासीबीआई 

सीबीआई का मानना है कि विनय मिश्रा मिडल ईस्ट में कहीं छुपा हुआ है। सीबीआई के मुताबिक, आज दोपहर तक विनय मिश्रा के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो जाएगा। विनय मिश्रा का नाम कुछ महीने पहले ही सामने आया था, जब बीजेपी की ओर से आरोप लगाया गया कि विनय मिश्रा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी का खास है और अवैध कारोबार के रुपयों का लेन देन देखता है। सीबीआई विनय मिश्रा के घर में कई बार छापेमारी कर चुकी है। विनय मिश्रा के संस्थान पर भी छापेमारी की जा चुकी है। हालांकि अभी तक विनय मिश्रा को पकड़ने में सीबीआई को कोई कामयाबी नहीं मिल पाई है।

भारतबांग्लादेश सीमा पर हुआ था तस्करी रैकेट का भंडाफोड़

दरअसल पिछले साल नवंबर में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी रैकेट का भंडाफोड़ हुआ था। तस्करी में कथित सरगना इनामुल हक की गिरफ्तारी हुई। इस तस्करी के तार यूथ तृणमूल कांग्रेस के जनरल सेक्रेट्री नेता विनय मिश्रा तक पहुंचे। 31 दिसंबर 2020 को कोलकाता में विनय मिश्रा के खिलाफ पशु तस्करी और अवैध कोयला खनन के मामले में तलाशी अभियान भी चलाया गया था। विनय मिश्रा के खिलाफ जांच एजेंसी ने लुक आउट सर्कुलर जारी किया था लेकिन सर्कुलर नोटिस के बाद विनय मिश्रा फरार हो गया।

करोड़ों में आंकी गई अवैध कीमत वाले कोयले की कीमत 

गौरतलब है कि अवैध रूप से खनन किए गए कोयले को बाजार में बेचा जाता था। इतना ही नहीं अवैध कीमत वाले कोयले की कीमत करोड़ों में आंकी गई। पश्चिम बंगाल में एक रैकेट द्वारा कई सालों तक ब्लैक मार्केट में भी कोयला बेचा गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चतुर्थी से महानगर की सड़कों पर सुरक्षा की कमान संभालेंगे पुलिस कर्मी

5 हजार पुलिस और 10 हजार अस्थायी होम गार्ड रहेंगे तैनात तीन शिफ्टों में काम करेंगे पुलिस कर्मी कोलकाता : कोविड काल के बाद इस साल आयोजित आगे पढ़ें »

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

ऊपर